7th pay commission: 65 लाख पेंशनभोगियों के लिए काम की खबर

7th pay commission Pension News; देश के 65 लाख पेंशनभोगियों के लिए यह एक अच्‍छी खबर है। जल्‍द ही इनकी बेसिक पेंशन की राशि में इजाफा हो सकता है।

सरकार इस संबंध में निर्णय कर सकती है। यदि सब कुछ ठीक रहा तो कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन यानी EPFO इसे लेकर व्‍यवस्‍था बना सकता है। असल में, भाजपा ने श्रम मंत्रालय को इस आशय का एक प्रस्‍ताव भेजा है।

इसमें कर्मचारी पेंशन योजना (EPS) में मासिक पेंशन राशि बढ़ाने और अन्‍य सुविधाओं का लाभ 65 लाख से अधिक पेशनधारकों को दिलाए जाने की मांग की गई है। EPS-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति (NAC) के अनुसार पेंशनभोगी महंगाई भत्ते (DA) के साथ मूल पेंशन 7,500 रुपये मासिक करने, पेंशनभोगियों के पति या पत्नी को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं (Health Service) देने की मांग लंबे समय से की जा रही है।

EPS 95 एनएसी के अध्यक्ष कमांडर अशोक राउत (सेवानिवृत्‍त) का कहना है कि 30 वर्ष तक काम करने और पेंशन फंड में योगदान करने के बाद भी कर्मचारियों को मासिक पेंशन के तौर पर केवल 2,500 रुपये ही मिल रहे हैं।

आपको बता दें कि EPS-95 एक प्रकार की कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPS) की कर्मचारी पेंशन योजना का नाम है।

EPS (कर्मचारी पेंशन योजना), 95 के दायरे में आने वाले कर्मचारियों के मूल वेतन (बेसिक और महंगाई भत्ता) का 12 फीसदी अंश भविष्य निधि (Provident fund) में जमा कराया जाता है।

दूसरी तरफ कंपनी, नियोक्‍ता से भी 12 प्रतिशत का अंशदान लेकर 8.33 प्रतिशत EPS में जमा कराया जाता है। मथुरा की सांसद हेमा मालिनी ने हाल ही में एक पत्र श्रम मंत्री संतोष गंगवार को लिखकर बुजुर्ग पेंशनरों की मांग पर ध्‍यान देने की अपील की है।