UP: अब बलरामपुर में दोहराई गई हाथरस जैसी दरिंदगी, छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म, पीड़िता ने तोड़ा दम

गैसड़ी में घर से एडमिशन लेने के लिए निकली छात्रा का गांव के ही कुछ दरिंदों ने अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म किया। घटना के किसी तरह घर पहुंची छात्रा की हालत देख घर वाले परेशान हो गए।
वह फौरन उसे लेकर जिला अस्पताल के लिए निकले लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही बेटी ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म का केस दर्ज कर गिरफ्तार दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
मामले की छानबीन के दौरान घटना का खुलासा हुआ है। शव को पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया है।

मामला गैसड़ी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव का है। इसी गांव की रहने वाली छात्रा मंगलवार सुबह 10 बजे परिजनों से यह बता कर निकली घर से निकली थी कि वह एक निजी महाविद्यालय में दाखिला लेने के लिए जा रही है।
छात्रा की मां के अनुसार उसकी बेटी देर शाम तक घर नहीं लौटी तो परिजनों ने बेटी की तलाश शुरू की।

इसी बीच छात्रा बदहवास एवं गंभीर हालत में घर पहुंची। छात्रा ने परिजनों को आपबीती सुनाई और कहा कि उसे एक युवक कॉलेज ले गया था। प्रवेश के बाद वही युवक उसे लेकर गैसड़ी बाजार पहुंचा और अपने घर/ दुकान ले गया।
जहां उस युवक तथा उसके चाचा ने बारी-बारी उसके साथ दुष्कर्म किया। जिससे छात्रा की हालत खराब हो गई। 

इस पर आरोपियों ने घबराकर उसे घर पहुंचने से पहले एक निजी चिकित्सक को बुलाकर छात्रा के इलाज का इलाज कराने की बात कही थी। उन्होंने एक डॉक्टर को घर पर बुलाया भी। लेकिन हालत गंभीर तथा मामला संदिग्ध होने के चलते चिकित्सक ने छात्रा का इलाज करने से मना कर दिया तथा उसे जिला अस्पताल ले जाने की सलाह दी। इलाज के लिए ले जाते समय रास्ते में ही छात्रा की मौत हो गई है।
बुधवार सुबह गैसड़ी की पुलिस मामले को संदिग्ध मानते हुए मृतका का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। परिजनों की आशंका पर पुलिस दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी। इस संबंध में देर शाम पुलिस के आला अफसर कुछ भी बोलने से कतरा रहे थे।