Unlock 5.0 Guidelines: आज आ सकती है अनलाक 5.0 की नई गाइडलाइन, जानिए कहां मिल सकती है छूट

Unlock 5.0 Guidelines: देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 61 लाख के पार पहुंच गया है। वहीं अनलाक 5.0 (Unlock 5.0) की सुगबुगाहट भी तेज हो गई है। माना जा रहा है कि केंद्र सरकार की ओर के किसी भी दिन Unlock 5.0 Guideline का ऐलान किया जा सकता है। यह घोषणा 29 सितंबर, मंगलवार को भी हो सकती है।

पूरे देश की नजर सिनेमा हाल और शिक्षण संस्थानों के खुलने पर है। उम्मीद की जा रही है कि सरकार कुछ खास शर्तों के साथ उन इलाकों में सिनेमा हाल खोलने की अनुमति दे सकती है, जहां कोरोना संक्रमण कम है।

वहीं स्कूल खोलने के लिए राज्यों को छूट दी जा चुकी है। इस बार पर्यटन को बढ़ावा देने वाले नियमों की घोषण भी हो सकती है।

Unlock 5.0 से पहले जानिए कोरोना राउंडअप

कोरोना जांच में गरीब देशों की मदद को आगे आया डब्ल्यूएचओ: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को एलान किया कि वह अग्र्रणी भागीदारों के साथ मिलकर निम्म व मध्यम आय वाले देशों की कोरोना जांच में मदद करेगा।

इसके लिए इन देशों को 12 करोड़ रैपिड जांच किट देने की योजना तैयार की गई है। हालांकि, अभी इस योजना के लिए धन की पर्याप्त व्यवस्था नहीं हो पाई है।

एंटीजेन आधारित रैपिड जांच के लिए डब्ल्यूएचओ ने पिछले हफ्ते ही उपयोगी जांच सूची जारी की थी। इसमें एक जांच पर पांच डॉलर यानी करीब पौने चार सौ रुपये का खर्च आएगा। इस योजना के लिए 60 करोड़ डॉलर (लगभग 4,500 करोड़) की जरूरत है।

अब चार धाम यात्रा के लिए कोरोना जांच जरूरी नहीं: चार धामों बदरीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री एवं गंगोत्री की यात्रा के लिए कोरोना जांच की अनिवार्यता अब नहीं होगी। उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने सोमवार को इस संबंध में आदेश जारी किए।

राज्य में बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को कुछ पाबंदियों के साथ चार धाम यात्रा की अनुमति दी गई थी। इसमें यात्रियों व श्रद्धालुओं के लिए चार धामों की यात्रा के लिए कोरोना की आरटीपीसीआर जांच निगेटिव होना या अन्य कोरोना परीक्षण रिपोर्ट अनिवार्य की गईं थीं।

कारोबार को हो रहे नुकसान को देखते हुए व्यापारी जांच खत्म करने की मांग कर रहे थे। सोमवार को उन्होंने इस सिलसिले में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज से मुलाकात भी की। इस पर महाराज ने अनलॉक-चार लागू होने के बाद इन पाबंदियों को समाप्त करने की पैरवी की थी।