Advertisements

हिमाचल चुनाव परिणाम: रुझानों में BJP सत्ता की ओर

राजनीतिक डेस्क। हिमाचल विधान सभा के लिए मतगणना सोमवार सुबह 8 बजे शुरू हो चुकी है। चुनाव आयोग की तरफ से तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पहला रुझान भाजपा के पक्ष में आया था और फिलहाल बीजेपी 41 सीटों पर और कांग्रेस 22 सीटों पर आगे चल रही है वहीं अन्य पांच सीटों पर आगे चल रही है।

रुझानों के हिसाब से देखा जाए, तो हिमाचल में भाजपा को बहुमत मिल गया है। हालांकि, पूरी तस्वीर नतीजों के आने के बाद साफ होगी। बताते चलें कि कुल 68 विधानसभा सीटों के लिए बहुमत के लिए 35 का जादुई आंकड़ा चाहिए। भाजपा एवं कांग्रेस दोनों दलों ने अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं। दोनों दलों के नेताओं व कार्यकर्ताओं में परिणाम को लेकर उत्‍साह है।

चुनाव आयोग ने इस बार मतदान में ईवीएम के साथ वीवीपैट का भी प्रयोग किया है। मतगणना के दौरान हर हलके से एक वीवीपैट की पर्चियों का ईवीएम में डले वोटों से मिलान होगा। अर्की विधानसभा सीट के लिए 9 नवंबर को 130 पोलिंग बूथों पर मतदान कराया गया था.

पिछले 10 सालों से अर्की विधानसभा पर बीजेपी का कब्जा रहा है, लेकिन कांग्रेस छह बार के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को उतारकर अपने पुराने गढ़ में वापसी करने की कोशिश में है। हिमाचल प्रदेश चुनाव में जिस एक सीट पर सबकी नजर लगी हुई है, वो है अर्की।

यहां से मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। ये सीट इसलिए भी अहम है क्योंकि सीएम वीरभद्र सिंह ने वो सीट चुनी है, जहां भाजपा पिछले दो चुनावों से जीत दर्ज कर रही है। इस सीट पर सीएम वीरभद्र सिंह का मुकाबला भाजपा उम्मीदवार रत्तन सिंह पाल से है।

एक निर्दलीय उम्मीदवार समेत इस वीआईपी सीट से 4 उम्मीदवार मैदान में हैं। निर्दलीय उम्मीदवार विजय सिंह चौहान और जन एसपी से विजय सिंह राजपूत भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश की यह वीआईपी सीट राजधानी शिमला से 40 किलोमीटर दूर स्थित है। यहां मतदाताओं की कुल संख्या 80722 है जिसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 41903 है और महिला मतदाताओं की संख्या 38284 है जबकि 530 सर्विस वोटर हैं।

अर्की की जनता ने 1993-2003 तक हुए तीन विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के हाथ को थामे रखा, लेकिन 2007 के बाद हुए दो चुनाव में जनता ने कमल खिलाकर कांग्रेस को इस सीट से बेदखल कर दिया।

Hide Related Posts