MP College Admission: मध्य प्रदेश में एक लाख विद्यार्थियों ने नहीं चुना पसंद का कॉलेज

भोपाल । MP College Admission: उच्च शिक्षा विभाग के 1405 सरकारी और निजी कॉलेजों की यूजी कक्षाओं में करीब एक लाख विद्यार्थी ऐसे हैं, जिन्होंने प्रवेश के लिए पंजीयन तो करा लिया, लेकिन पसंद का कॉलेज चुना ही नहीं। इन विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज स्तरीय काउंसिलिंग में स्थानांतरित कर दिया है। इससे यह विद्यार्थी इसी साल प्रवेश ले सकेंगे।

दरअसल, इस बार यूजी कक्षाओं में प्रवेश के लिए करीब साढ़े चार लाख विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया था। इनमें से सिर्फ साढ़े तीन लाख विद्यार्थियों ने पसंद का कॉलेज चुना है, जबकि शेष एक लाख विद्यार्थियों ने पसंद का कॉलेज नहीं चुना। यदि विभाग इन्हें कॉलेज स्तरीय काउंसिलिंग में स्थानांतरित नहीं करता तो इन्हें प्रवेश के लिए एक साल इंतजार करना होता। इससे इनका मौजूदा साल खराब हो जाता। कॉलेज स्तरीय काउंसिलिंग के तहत प्रवीण्य सूची का प्रकाशन 24 सितंबर, गुरुवार को विभाग करेगा। इसके बाद विद्यार्थी ऑनलाइन फीस जमा कर प्रवेश ले सकेंगे। प्रवेश लेने की अंतिम तारीख 29 सितंबर रहेगी। मेरिट सूची जारी होने के बाद पसंद का कॉलेज चुनकर विद्यार्थी उसमें प्रवेश ले सकेंगे। अब तक विद्यार्थियों को कॉलेज स्तरीय काउंसिलिंग में कॉलेज जाना होता था। इससे समय खराब होने के अलावा कॉलेज में भीड़ लग जाती थी, लेकिन इस बार कॉउंसिलिंग में प्रवेश लेने के लिए कॉलेज नहीं जाना होगा। विभाग ने कॉलेज स्तरीय कॉउंसिलिंग को भी ऑनलाइन कर दिया है।

पीजी में पंजीयन का आज अंतिम दिन

पीजी कक्षाओं में कॉलेज स्तरीय कॉउंसिलिंग के जरिए प्रवेश के लिए बुधवार को पंजीयन का अंतिम दिन है। इसके बाद इस साल प्रवेश के लिए पंजीयन नहीं होंगे। कॉलेज स्तरीय कॉउंसिलिंग के जरिए प्रवेश के लिए अब तक करीब 15 हजार विद्यार्थियों ने पंजीयन करा लिया है। इनमें से आठ हजार ने दस्तावेजों का सत्यापन भी करा लिया है। मेरिट सूची का प्रकाशन 30 सितंबर को होगा, जिसके बाद 5 अक्टूबर तक प्रवेश लिया जा सकेगा।