Rahu Ketu Rashi Parivartan 2020 : राहु व केतु बदल रहे राशि, महामारी घटेगी और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे

भोपाल । Rahu Ketu Rashi Parivartan 2020 : सितंबर माह ग्रहों की राशि परिवर्तन के लिए खास माना जा रहा है। ज्योतिषियों का मत है कि करीब एक दशक बाद ऐसी स्थिति बन रही है कि इस माह 9 में से 5 ग्रह अपनी स्वराशि में हैं।

सभी ग्रह अपनी स्वयं के आधिपत्य वाली राशि में होने पर अधिक बलशाली होते हैं और जिन राशियों पर उनकी दृष्टि होती है, उन पर अधिक असर डालते हैं। दूसरी ओर 23 सितंबर को राहु मिथुन से वृषभ में और केतु, धनु से वृश्चिक राशि में पहुंचेंगे।

यह दोनों ही ग्रह 12 अप्रैल 2022 तक इन्हीं राशियों में रहेंगे। ज्योतिषियों का मत है कि 5 ग्रहों के अपनी राशि में होने से अब जन स्वास्थ्य में सकारात्मक परिणाम दिखाई देंगे।

वहीं, राहु व केतु का राशि परिवर्तन आर्थिक मंदी में कमी लाएगा। कृषि के क्षेत्र में हालात सुधरेंगे और सरकारी क्षेत्रों में नौकरियों के अवसर बढ़ेंगे।

 

ब्रह्म ज्योतिष संस्थान के ज्योतिषाचार्य पंड़ित जगदीश शर्मा ने बताया कि एक दशक बाद इस माह 9 में से 5 ग्रह अपनी राशि में होंगे, जिसके ज्यादातर सकारात्मक परिणाम ही दिखाई देंगे।

सूर्य वर्तमान में अपनी स्वयं की राशि सिंह और मंगल, मेष, बुध, कन्या, बृहस्पति, धनु व शनि मकर राशि में हैं। राहू-केतु के राशि परिवर्तन से सकारात्मक परिणाम दिखने लगेंगे।

शनि के 29 सितंबर को मार्गी होने पर महामारी के कम होने की संभावना है। हालांकि, महामारी को कमजोर पड़ने में अप्रैल 2021 तक का समय लग सकता है।