Katni: कभी Sunday को गुलजार रहती थी चौपाटी, आज पसरा है सन्नाटा

Advertisements

Katni कटनी कोरोना corona का असर छोटे-छोटे व्यापारों पर दिख रहा है। ये व्यापार ठप है या चौपट हो गए। इन्हें चलाने वाले बेरोजगार हो गए। शहर की चौपाटी कभी लोगों से भरी रहती थी। लोग यहां पर रविवार और रोज शाम अपने परिवारों के साथ जाकर चाट और अन्य खाने वाले स्वादिष्ट व्यंजनों का लुफ्त उठाते थे। कोरोना ने ऐसा कहर ढाया कि अब यहां परिंदा भी पर नहीं मार रहा है।

ठेले किनारे खड़े हैं। ग्राहकों का पता नहीं है। यहां के व्यापारी अन्य व्यापार कर अपनी रोजी चला रहे हैं। यहां के व्यापारी राहुल ने बताया कि वे पहले चौपाटी पर भेलपुरी बनाते थे।

कोरोना ने धंधा चौपट कर दिया। अब वह सब्जी बेच रहे हैं। इसी तरह एक अन्य व्यापारी रामसुख ने बताया कि अब व्यापार ही नहीं है।

लोग कोरोना के डर नहीं आ रहे हैं। इसलिए पहले लॉकडॉउन अब लोगों की सतर्कता ने खाने पीने के व्यावसायों पर असर डाला है।

इसलिए दूसरे धंधों का रुख कर कमाई के साधन बना रहे हैं। नए धंधों में इन व्यापारियों को परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है लेकिन पुराने व्यापार के भरोसे अब जीवन चलता नहीं दिख रहा है तो उन्होंने इसे ही अपनी नियति और भाग्य मान लिया है।

सड़क के व्यापारियों के व्यापार पर भी कोरोना का असर पड़ा है। सड़क के व्यापारियों  ने बताया कि रविवार को तो और स्थिति खराब हो जाती है। भले ही जिला प्रशासन ने रविवार को टोटल लॉकडाउन हटा दिया हो लेकिन लोगों की आदत में यह शुमार हो गया। अभी रविवार को सड़कें सूनी रहती हैं और व्यापार ठप हो जाता है। इसके अलावा पहले जैसी रौनक व्यापार में नहीं लौट पा रही है। इससे व्यापारी परेशान हैं। धंधा नहीं हो पा रहा है।

Advertisements