Reliance Jio Glass के डोमो में छाए ईशा और आकाश अंबानी, जानिए डिवाइस के बारे में अहम बातें

Advertisements
Advertisements

देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस की सालाना बैठक में कई बड़े ऐलान किए गए जिनमें Jio Glass भी शामिल है। Jio Glass के जरिए एक तरह से जिंदगी पूरी तरह बदलने वाली है। Jio Glass की मदद से घर बैठे बिल्कुल अंदाज में ऑफिस की मीटिंग में हिस्सा लिया जा सकेगा। साथ ही बच्चों की पढ़ाई का अंदाज भी पूरी तरह बदलने वाला है। Jio Glass का वजन मात्र 75 ग्राम है, जिस पर 25 एप्लिकेशन्स चलाई जा सकती हैं। 3डी होलोग्राफिक वीडियो कॉल किए जा सकते हैं। यानी आपको अपना साथी 3डी अवतार में नजर आएगा। सबसे अच्छी बात यह है कि इस ऑफिस मीटिंग के दौरान वीडियो कॉलिंग पूरी स्मूथ रहेगी। साथ ही प्रजेंटेशन भी शेयर किया जा सकेगा। Jio Glass पूरी तरह से Jio Meet को सपोर्ट करता है। रिलायंस की एजीएम के दौरान Jio Glass का पूरा प्रजेंटेशन आकाश और ईशा अंबानी ने दिया।

Jio Glass for Health

जियो मीट के जरिये भविष्य के क्लासरूम के साथ ही, हेल्थकेयर सिस्टम के लिए इसकी उपयोगिता की भी ईशा अंबानी ने जानकारी दी। हाईक्वालिटी वीडियो कॉल्स के जरिये कोविड और नॉन-कोविड पेशेंट्स की हेल्थकेयर में मदद मिलेगी। ललाइन कंसल्टेशन के साथ ही हमें हेल्थकेयर रिकॉर्ड रखने में मदद मिलेगी।

Jio Glass for Education

Jio Glass का इस्तेमाल पढ़ाई के लिए भी किया जा सकता है। यहां एक साथ कई क्लासेस लगाई आ जा सकती है और वीडियो कॉलिंग की अवधि कितनी भी हो सकती है। बच्चे किसी भी कक्षा में शामिल हो सकते हैं। यानी पिछले कक्षा का कोई लेसन उन्हें समझ नहीं आया है तो वे बिना किसी परेशानी के उस कक्षा में शामिल होकर सीख सकते हैं। ये भी होलोग्राफ्रिक क्लासेस होंगे।

 

जियोग्राफी से लेकर सभी विषयों को बहुत अच्छी तरह समझा जा सकेगा। ईशा अंबानी ने जियो मीट का डेमो देत हुए बताया कि यह शिक्षा से संबंधित सभी समस्याओं को दूर करेगा। ऑनलाइन क्लास के जरिये स्कूलों में मौजूद 30 फीसदी से ज्यादा की कमी को दूर करने में मदद मिलेगी।

बदलने वाला है घुमने-फिरने का तरीका

Jio Glass की मदद से घर बैठे कहीं भी घुमने-फिरने जाया जा सकता है। यानी 3डी फॉर्मेट में दुनिया के किसी भी पर्यटन स्थल को देखा जा सकता है। Jio Glass में एक एप्लिकेशन से दूसरे में जाना भी बहुत आसाना है। मुकेश अंबानी और उनकी कंपनी का मानना है कि कोरोना वायरस के मुश्किल समय में कंपनी की यह पहल पूरे देश के लिए मददगार होगी।

 

:: अहम बातें ::

  • पूरी तरह भारतीय तकनीकी से तैयार 5जी सॉल्यूशन ट्रायल के लिए तैयार

  • दुनियाभर में चीन की 5जी कंपनियों को चुनौती देगी रिलायंस जियो

  • भारत के लिए विशेष रूप से तैयार ऑपरेटिंग सिस्टम पर लॉन्च होगा स्मार्टफोन

  • अगले तीन साल में जियो से 50 करोड़ मोबाइल ग्राहकों के जुड़ने का अनुमान

  • जियोमार्ट से इलेक्ट्रॉनिक्स, दवा और फैशन आइटम भी मंगा सकेंगे ग्राहक

  • रिलायंस यातायात के लिए स्वच्छ ईंधन लाने की तैयारी भी कर रही

  • कंपनी ने वर्ष 2035 तक पूरी तरह से कार्बन मुक्त होने का लक्ष्य रखा है।

Advertisements
error: Content is protected !!