लॉक डाउन के दौरान पुलिस के समक्ष थी कठिन चुनौती-अधिकारियों ने किए अनुभव साझा

Advertisements
Advertisements

जबलपुर। यश भारत समाचार@आशीष शुक्ला

धर्मशास्त्र राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय जबलपुर में अपराधिक न्याय शास्त्र एवं भारत में वैश्विक महामारी को कोविड-19 में पुलिस की सहभागिता विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया।

धर्मशास्त्र राष्ट्रीय विश्वविद्यालय जबलपुर में आपराधिक न्याय शास्त्र एवं भारत में वैश्विक महामारी कोविड-19 में पुलिस की सहभागिता के विषय पर एक सेमिनार वर्कशॉप कार्यक्रम का आयोजन जिसमें मध्यप्रदेश शासन के न्याय विभाग न् एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारियों की उपस्थिति में वैश्विक महामारी को विज्ञान के दौरान महामारी अधिनियम 1897 एवं अप्रैल 2020 में किए गए संशोधनों एवं भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत होने वाली प्रथम सूचना प्रतिवेदन एफआई आर के पश्चात उत्पन्न विषय पर चर्चा की गई l

▪️भारत में कोविड- 19 महामारी के दौरान के दौरान कानूनों एवं आपराधिक न्यायिक प्रशासन की भूमिका l
▪️कोविड-19 महामारी के दौरान उत्पन्न विधिक समस्या एवं चुनौतियां l
▪️लॉक डाउन के दौरान कानून को लागू करने में पुलिस के समक्ष उत्पन्न होने वाली समस्या एवं चुनौतियों के समाधान हेतु दिशा निर्देश l
▪️कोविड-19 के दौरान किए गए महामारी एक्ट के अंतर्गत अपराधों में अंतरिम जमानत के प्रावधानों पर l
▪️भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दर्ज किए अपराधों में अभियोजन के दौरान उत्पन्न मुद्दों पर परिचर्चा l
▪️भारतीय जेलों में कैदियों की अधिकता व सामूहिक दूरी एवं जेलों में दंडित कैदियों की कोविड-19 के दौरान रिहाई l

धर्मशास्त्र राष्ट्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बलराज चौहान ने कोविड -19 के कारण उत्पन्न हुई लॉक डाउन की स्थिति के दौरान मध्य प्रदेश पुलिस के सराहनीय कार्यों हेतु उन्हें सम्मानित किया गया l मध्य प्रदेश पुलिस की ओर से यह पुरस्कार भगवत सिंह चौहान पुलिस महा निरीक्षक जबलपुर ने ग्रहण किया l

 

▪️कार्यक्रम के अगले दौर में सिद्धार्थ बहुगुणा आईपीएस पुलिस अधीक्षक जबलपुर ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के द्वारा बताया कि मध्य प्रदेश में प्रथम कोरोना पॉजिटिव जबलपुर में पाया गया परंतु जबलपुर पुलिस के प्रयासों से कोरोना के संक्रमण की दर पर नियंत्रण प्राप्त कर लिया गया l

लॉक डाउन के दौरान पुलिस प्रशासन को किन किन समस्याओं व चुनौतियों का सामना करना पड़ा एवं किस तरह से पुलिस प्रशासन ने अपनी सूझबूझ से उन चुनौतियों एवं समस्याओं का सामना किया l इस बारे में अपने अनुभवों की जानकारी भी दी l
▪️पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन भगवत सिंह चौहान ने बताया की लॉक डाउन के दौरान पुलिस द्वारा पूरी तरह से प्रयास किया गया कि आम नागरिकों को किसी तरह से दिक्कतों का सामना ना हो l

परिचर्चा में मध्य प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशक राम कुमार चौबे और सचिव सुश्री गिरी बाले सिंह द्वारा भी राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की कार्यों के बारे में बतलाया गया l

इस कार्यशाला में मध्य प्रदेश शासन के न्यायिक अधिकारियों के साथ-साथ जबलपुर के सभी पुलिस अधिकारी भी उपस्थित रहे l

Advertisements