Jabalpur: लॉक डाउन में हुई लूट का पर्दाफाश, लुटेरे गिरफ्तार

Advertisements
Advertisements

जबलपुर (यशभारत समाचार@आशीष शुक्ला) थाना घमापुर में लॉक डाउन में 24 मई
की सुबह शुक्ला होटल घमापुर निवासी कैलाश गुप्ता उम्र 50 वर्ष ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि वह ठेले से फेरी लगाकर फल बेचता है।

हर दूसरे दिन अपने घर से दोस्त बबलू गुप्ता के घर सरकारी कुआ जाता है, जहां से दोनों दीनदयाल फल मंडी, फल लेने बबलू गुप्ता के मालवाहक आटो से जाते हैं सुबह लगभग 4-30 बजे वह घर से दोस्त बबलू गुप्ता के घर सरकारी कुआ पैदल जा रहा था।

जैसे ही झामनदास चौक डॉ. मंजू गुलाटी की क्लीनिक के सामने पहुंचा तभी कांचघर चौक तरफ से 02 व्यक्ति पैदल आ रहे थे जिन्हें वह नहीं जानता है, उनमें से एक व्यक्ति ने उसके दोनों हाथ पकड़ लिये तथा दूसरे व्यक्ति ने पीछे से किसी धारदार नुकीली चीज से हमला कर उसके दाहिने पैर की जांघ में चोट की दी तथा पेंट की अंदर की जेब मे रखे 8 हजार रूपये छीन कर गोपाल होटल तरफ भाग गये,। रिपोर्ट पर धारा 394, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा आरोपियें की पतासाजी हेतु आदेशित किया गया इसके साथ ही पूर्व मे पकड़े गये सम्पत्ति सम्बंधी अपराधियों एवं जेल से रिहा हुये सम्पत्ति सम्बंधी  आरोपियों से सघन पूछताछ एवं उनकी गुजर बसर की जांच हेतु निर्देशित किया गया है। आरोपियों की पतासाजी हेतु  थाना घमापुर में पदस्थ अधिकारियों/कर्मचारियों को लगाया गया।

दौरान पतासाजी के मुखबिर से सूचना मिली कि कछियाना निवासी चिल्ली प्रजापति एवं गोपाल होटल के पास रहने वाला निखिल वर्तमान में कोई काम-धाम नहीं कर रहे हैं, खाने-पीने में अच्छा पैसा खर्च कर रहे है, जबकि उनकी हैसियत नहीं है, यह जानकारी लगते ही, चिल्ली उर्फ देवेन्द्र उम्र 19 वर्ष निवासी कछियाना एवं निखिल उर्फ कंजा, लालवानी उम्र 20 वर्ष गोपाल होटल के पास को सरगर्मी से तलाश कर पकड़ा गया,  एवं सघन पूछताछ की गयी तो चिल्ली एवं निखिल ने एक व्यक्ति की जांघ में चाकू मारकर 8 हजार रूपये छीन कर भाग जाना स्वीकार कबूल लिया एवं बताया कि दो साथी सच्चू उर्फ देवेन्द्र अहिरवार एवं कान्हा उर्फ कृष्णा राजपूत रैकी कर रहे थे कि कोई आ तो नहीं रहा है।

पैसे छीनने के बाद चारों भाग कर गोपाल होटल कि पास कुलिया में पहुंचे एवं 2-2 हजार रूपये आपस में बांट लिये। सच्चू उर्फ देवेन्द्र एवं कान्हा उर्फ कृष्णा राजपूत को भी सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा मे लेते हुये पूछताछ करते हुये *छीने हुये 8 हजार रूपयों में से नगदी 5500 रूपये एवं घटना में प्रयुक्त चाकू बरामद किया गया है। उल्लेखनीय है कि निखिल उर्फ कंजा लालवानी अपराधी प्रवृत्ति का है जिसके विरूद्ध मारपीट के प्रकरण पंजीबद्ध होकर न्यायालय में विचाराधीन है।

आरोपियों की पतासाजी एवं गिरफ्तारी में पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) ने   टीम को  पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Advertisements