मध्‍यप्रदेश के छात्र अब 10वीं और 12वीं की पढ़ाई दूरदर्शन पर करेंगे

Advertisements

भोपाल। Madhya Pradesh News मध्‍य प्रदेश के सरकारी स्कूलों के बच्चे दूरदर्शन पर पढ़ाई करेंगे। अभी दसवीं व बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए दूरदर्शन के माध्यम से कक्षाएं शुरू होंगी। यह व्यवस्था स्कूल शिक्षा विभाग और दूरदर्शन मप्र की ओर से शुरू की जा रही है।

सभी जिलों के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के विद्यार्थियों की पढ़ाई सुचारू रूप से संचालित हो, इसके लिए विभाग ने दूरदर्शन से अनुबंध किया है। दूरदर्शन क्लासरूम के नाम से यह कार्यक्रम 11 मई से प्रारंभ होकर 30 जून तक चलेगा। ये कक्षाएं दो पालियों में दो घंटे तक चलेंगी। कोरोना संक्रमण की वजह से स्कूलों के बंद होने पर विभाग ने यह पहल की है।

इसे भी पढ़ें-  Termination: 9 ग्राम पंचायत सचिव सहायकों की सेवाएं समाप्त

दूरदर्शन मप्र पर सोमवार से शुक्रवार तक कक्षा 10वीं के लिए दोपहर 12 बजे से 1 बजे तक और 12वीं के विद्यार्थियों के लिए दोपहर 3 से शाम 4 बजे तक कार्यक्रम प्रसारित होगा। इसमें एक घंटे का प्रसारण निशुल्‍क होगा, सिर्फ एक घंटे के प्रसारण के लिए विभाग खर्च करेगा।

वहीं, दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले डिजिटल कंटेंट को शिक्षकों के लिए भी उपलब्‍ध। कराया जाएगा। इससे ऑनलाइन कक्षाओं के दौरान विद्यार्थियों द्वारा पूछे जाने वाले सवाल पर समझा सकेंगे। ज्ञात हो कि दूरदर्शन के माध्यम से प्रदेश भर के दसवीं व बारहवीं के करीब 18 लाख विद्यार्थियों को फायदा मिलेगा।

ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों को भी मिलेगा फायदा

इसे भी पढ़ें-  दुष्कर्म का आरोपित बड़नगर विधायक का बेटा करण मोरवाल मक्सी से गिरफ्तार

विभाग के अधिकारियों का मानना है कि ग्रामीण से लेकर शहरी क्षेत्रों में हर घर में टीवी उपलब्‍ध है। अगर दूरदर्शन के माध्यम से कक्षाएं लगाई जाएं तो सभी वर्ग के विद्यार्थियों को इसका फायदा मिलेगा। इसके अलावा विभाग व्‍हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से भी ऑनलाइन कक्षाएं संचालित कर रहा है। इसके अलावा पहली से आठवीं कक्षा के बच्चों के लिए रेडियो स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। साथ ही विभाग स्थानीय केबल के माध्यम से भी कार्यक्रम प्रसारित कर रहा है।

इनका कहना है

10वीं और 12वीं कक्षा की पढ़ाई शुरू करना जरूरी है। ये दोनों कक्षाएं सबसे महत्वपूर्ण हैं। इन कक्षाओं का कोर्स न पिछड़े, इसलिए दूरदर्शन के माध्यम से इनकी नियमित कक्षाएं 11 मई से शुरू होंगी।

  • जयश्री कियावत, आयुक्त, डीपीआई
Advertisements