Coronavirus Live News: दिल्ली के सुल्तानपुरी क्वारंटाइन सेंटर में जमातियों ने किया जमकर हंगामा

Advertisements

नई दिल्ली। दिल्ली में जमातियों का हंगामा रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सुल्तानपुरी स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए जमातियों ने बुधवार को जमकर हंगामा किया। स्वास्थ्य विभाग ने इस मामले की सूचना पुलिस को दे दी है। इसके बाद पुलिस ने मौके पर जाकर जमातियों को शांत कराया। बताया जा रहा है कि क्वारंटाइन सेंटर में 199 जमातियों को रखा गए हैं। इनमें से एक जमाती की तबीयत बुधवार को अचानक बिगड़ गई। गंभीर हालत में जमाती को लोक नायक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इसके बाद क्वारंटाइन सेंटर में मौजूद जमातियों ने हंगामा शुरू कर दिया।

हॉस्पिटल में भी जमातियों का हंगामा

उधर, LNJP हॉस्पिटल में कोरोना के मरीज को भर्ती के करवाने के दौरान अस्पताल के गार्ड्स और कैट्स एम्बुलेंस कर्मचारियों के बीच विवाद हो गया। बताया जा रहा है कि दोनों तरफ से हाथापाई भी हुई जिनमें कैट्स की एक महिला कर्मचारी घायल हो गई हैं। मरीज को राम मनोहर लोहिया अस्पताल से एलएनजेपी अस्पताल में ले जाया गया है।

इसे भी पढ़ें-  Gwalior adulteration free campaign: लैब में फेल हुए सैंपल, पांच प्रतिष्ठानाें के संचालकाें पर कराई FIR

जमाती थूक रहे थे लोगों पर

इससे पहले हजरत निजामुद्दी स्थित तब्लीगी मरकज जमात से क्वांरटाइन सेंटर ले जाने के दौरान कई जमातियों ने न सिर्फ स्वास्थ्य कर्मियों के साथ अभद्रता की थी बल्कि वहां मौजूद अन्य लोगों के ऊपर थूकने लगे थे। ऐसे कोरोना संक्रमण के खौफ से लोगों में दहशत फैल गई थी। बताया जा रहा है कि जमातियों ने स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और मीडियाकर्मियों के बदसलूकी की और उन्हें देखकर इधर-उधर थूकने भी लगे। जब बस की खिड़की बंद करने की कोशिश की गई तो लोगों पर जमाती थूकने लगे।

गाजियाबाद में नर्सों के साथ की थी अभद्रता

इसे भी पढ़ें-  RTE School Admission : निजी स्‍कूलों में गरीब बच्‍चों के निश्शुल्क प्रवेश के लिए 29 अक्‍टूबर से शुरू होगा काउंसिलिंग का दूसरा चरण

इसके अलावा दिल्ली से सटे हुए गाजियाबाद के एमएसजी अस्पताल में भर्ती जमातियों ने महिला स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बदसलूकी की थी और बेशर्मी की सारी हदें पार कर दी थी। अस्पताल प्रशासन की ओर से पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक, नर्स जैसे ही वार्ड में पहुंचती थीं वैसे ही जमाती कपड़े बदलने लगते थे। बिना पायजामा के वे वार्ड में घूमने लगते थे। यहीं नहीं मोबाइल पर अश्लील गाने सुनने लगते थे और धूम्रपान की चीजों की मांग करने लगते थे। अस्पताल प्रशासन की शिकायत पर पुलिस ने मामला भी दर्ज किया था।

गौरतलब है कि दिल्ली समेत पूरे देश में जमातियों की वजह से कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दिल्ली में सामने आए कोरोना के कुल 2156 मामले में से आधे से ज्यादा जमाती ही हैं। दिल्ली में अब तक 28.33 मरीज स्वस्थ्य हो चुके हैं। जबकि 47 मरीजों की अभी तक मौत हुई है। वहीं 1498 मरीजों की इलाज चल रहा हैं। इनमें से 513 मरीज नौ अस्पतालों में इलाज करवा रहे हैं। जिसमें से 27 मरीज आइसीयू में भर्तीकिए गए हैं। इनमें से पांच मरीज फिलहाल वेंटिलेटर पर हैं। इसके अलावा अस्थायी रूप से बनाए गए 10 कोविड केयर सेंटरों में 772 मरीज भर्ती किए गए हैं। वहीं चौधरी ब्रह्म प्रकाश आयुर्वेद अस्पताल में बनाए गए कोविड हेल्थ सेंटर में 31 मरीजों का इलाज किया जा रहा हैं।

Advertisements