भारतीय सेना की म्यांमार सीमा पर बड़ी कार्रवाई, कई नागा उग्रवादी ढेर

Advertisements

नई दिल्ली। पाकिस्तान के खिलाफ की गई सर्जिकल स्ट्राइक की वर्षगांठ पर अब भारतीय सेना ने एक और बड़ी कार्रवाई की है। खबरों के अनुसार भारतीय सेना ने म्यांमार सीमा पर नागा आतकियों को करारा जवाब देते हुए उन्हें भारी नुकसान पहुंचाया है।

भारतीय सेना की पूर्वी कमांड ने इसकी पुष्टि कर दी है और कहा है कि यह सुबह के समय अज्ञात हमलावरों द्वारा की गई फायरिंग के बाद भारतीय जवानों ने काउंटर ऑपरेशन चलाया और सेना की कार्रवाई में नागा आतंकियों के ठिकानों को भारी नुकसान पहुंचा है। यह स्ट्राइक बुधवार अल सुबह 4.45 बजे के आसपास की गई है।

इसे भी पढ़ें-  Mixed Vaccine Permission: मिश्रित टीका: जल्द ही एक व्यक्ति ले सकेगा दो अलग-अलग वैक्सीन की खुराक, केंद्र ने परीक्षण को दी मंजूरी

पहले दावा किया गया था कि सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की है और इसमें भारतीय सेना को भी नुकसान पहुंचा है लेकिन सेना ने इस खबर को नकारते हुए कहा है कि इसमें शामिल किसी जवान को नुकसान नहीं हुआ है। सेना ने यह भी कहा है कि इस पूरे ऑपरेशन के लिए उसने अंतरराष्ट्रीय सीमा पार नहीं की है।

सेना के अनुसार एनएससीएन(के) को भारी नुकसान हुआ है। इस ऑपरेशन में सेना के पैराकमांडोज को भी शामिल किया गया था।

आपको बता दें कि भारतीय सेना ने जून 2015 में भी म्यांमार सीमा के दो किलोमीटर अंदर घुसकर उग्रवादियों के दो कैंप पुरी तरह तबाह कर डाले। सेना की इस कार्रवाई में करीब 100 उग्रवादी मारे गए थे। इस अभियान में उग्रवादियों के दो कैंप पूरी तरह से बरबाद कर दिए गए थे। इस कार्रवाई में सेना ने MI-17 हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया। इससे पहले 2003 में सेना ने ऐसा ऑपरेशन भूटान सीमा में घुसकर उल्फा के खिलाफ किया था।

Advertisements