ब्राजील के राष्ट्रपति को याद आए हनुमान! कहा-भारत की मदद संजीवनी जैसी

ब्राजील ने मुश्किल वक्त में भारत के द्वारा की जा रही मदद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया है. उन्होंने इसकी तुलना रामायण की उस घटना से की है, जहां हनुमान संजीवनी लाकर लक्ष्मण की जान बचाते हैं।
ब्राजील के राष्ट्रपति की मोदी को चिट्ठी- संजीवनी से की भारत की मदद की तुलना
ब्राजीली राष्ट्रपति ने की पीएम मोदी की तारीफ
  • कोरोना संकट पर ब्राजीली राष्ट्रपति की चिट्ठी
  • पीएम मोदी को चिट्ठी लिख भारत की तारीफ की

कोरोना वायरस का संकट दुनिया पर लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बीच भारत की तरफ से अधिक प्रभावित देशों को हर संभव मदद दी जा रही है. अमेरिका के बाद अब ब्राजील ने भी भारत को इस मदद के लिए शुक्रिया कहा है. ब्राजीली राष्ट्रपति जेर बोलसोनारो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें इस मदद की तुलना हनुमान द्वारा लाई गई संजीवनी से की गई है.

ब्राजीली राष्ट्रपति ने सात अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना वायरस के मसले पर चिट्ठी लिखी, जिसमें उन्होंने भारत-ब्राजील की दोस्ती की बात की.

ब्राजीली राष्ट्रपति ने कहा कि संकट के इस समय में जिस तरह भारत ने ब्राजील की मदद की है, वह बिल्कुल वैसा ही है जैसा रामायण में हनुमान जी ने राम के भाई लक्ष्मण की जान बचाने के लिए संजीवनी लाकर किया था. बता दें कि बुधवार को ही देश में हनुमान जयंती का त्योहार मनाया जा रहा है.

ब्राजीली राष्ट्रपति की चिट्ठी का हिस्सा

दरअसल, ब्राजील की ओर से इस तारीफ का कारण हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन ही है, भारत ने मंगलवार को कहा है कि जिन देशों को इस दवाई की सख्त जरूरत है और जहां कोरोना वायरस के मामलों का असर काफी ज्यादा है वहां कुछ निश्चित दवाइयों की सप्लाई की जाएगी.