खंडवा जिले के युवक ने बनाई पर्यटन निगम की फर्जी वेबसाइट, कमाए लाखों

Advertisements

भोपाल। साइबर क्राइम पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है,जो पर्यटन निगम के नाम की फर्जी वेबसाइट बनाकर पर्यटकों से बुकिंग के नाम पर कमीशन हड़प रहा था। उसने एक साल में हनुमंतिया टापू के साथ ही कई होटलों में करीब 1200 पर्यटकों के लिए होटल/आवास बुक कराकर करीब 10 लाख रुपए कमीशन के जरिए कमाए। आरोपी पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और पुणे में एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करता है।

एसपी साइबर क्राइम शैलेंद्र चौहान ने बताया कि टूरिज्म कॉर्पोरेशन द्वारा 26 अक्टूबर को साइबर थाने में एक शिकायत दर्ज कराई गई थी। उसमें बताया गया था,कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने फर्जी वेबसाइट बनाई हैं। हनुमंतिया आइलैंड तथा सैलानी आईलैंड नाम की उन वेबसाइट को उसने मप्र पर्यटन निगम की ऑफिसियल वेबसाइट के रूप में प्रस्तुत कर रखा है।

इनके जरिए उसने खंडवा में पर्यटन निगम के होटल/आवास भी बुक कराए हैं। शातिर व्यक्ति द्वारा दोनों वेबसाइट्स पर किसी भी प्रकार के संपर्क नंबर प्रदान न करते हुए सभी तरह की जानकारी छुपाई गई है। साइबर क्राइम पुलिस द्वारा तकनीकी अनुसंधान एवं वेबसाइट्स में डोमेन रजिस्ट्रार से जानकारी जुटाई गई। इस आधार पर फर्जी वेबसाइट्स ऑपरेट करने वाले की पहचान खंडवा के हरजूद गांव निवासी नरसिंह चौहान के रूप में हुई। पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर नरसिंह पूना में एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करता है।

दस से तीस फीसदी तक मिलता था कमीशन

आरोपी द्वारा अपनी वेबसाइट्स को पर्यटन निगम की ऑफिसियल वेबसाइट के रूप में प्रस्तुत कर रखा था। इससे पर्यटकों को गुमराह कर हनुमंतिया टापू एवं सैलानी टापू खण्डवा में मप्र पर्यटन विभाग में होटल/टेंट आवास की बुकिंग हेतु राशि प्राप्त की जा रही थी।

बाद में पर्यटकों के लिये मप्र पर्यटन के क्षेत्रीय मार्केटिंग कार्यालय पूना, इन्दौर एवं नागपुर के माध्यम से पर्यटकों के लिए आवास बुक कर दिए जाते थे। प्रस्तुत बुकिंग पर आरोपी 10 से 30 फीसद तक डिस्काउन्ट प्राप्त करता था। जिसकी जानकारी पर्यटकों को नहीं होती थी।

आरोपी अपनी वेबसाइट्स के नाम पर पर्यटकों को बिल भी थमा देता था। पूछताछ में पता चला कि 29अक्टूबर-16 से 21 नवंबर-17 के बीच आरोपी द्वारा 340 बार लगभग 1200 पर्यटकों के लिए आवास बुकिंग कराया जाकर 38 लाख 31 हजार 792 रुपए का कारोबार किया। इससे कमीशन के रूप में उसने करीब 10 लाख रुपए का लाभ कमाया।

Advertisements