नव संवत्सर 25 मार्च से होगा आरंभ, बुध के नेतृत्व में देश आर्थिक उन्नति करेगा, वैभव बढ़ेगा

धर्म डेस्‍क। इस बार नव संवत्सर प्रमादी नाम का होगा। चूंकि नव संवत्सर बुधवार से शुरू हो रहा है, इसलिए नए साल के राजा बुध होंगे। मंत्री चन्द्रमा होगा। बुध के प्रभाव से देश में धर्म व आध्यात्म की ओर लोगों का रूझान बढ़ेगा। धन-धान्य, सुख-सुविधा,कला में वृद्धि होगी। व्यापारियों खासतौर से महिलाओं के लिए आने वाला नव संवत्सर लाभदायी सिद्ध होने वाला है।

बुध के नेतृत्व में देश आर्थिक उन्नाति करेगा और वैभव भी बढ़ेगा। पंडित श्यामसुंदर पाराशर के मुताबिक 25 मार्च से हिंदू पंचांग का नया साल नव संवत्सर शुरू होगा। इस दिन से संवत 2077 शुरू हो जाएगा। इसका नाम प्रमादी होगा। पंचांग भेद में किन्हीं पंचागों में आनंद नाम का उल्लेख भी मिल रहा है।

बुध के नेतृत्व में चंद्रमा मंत्री होंगे। संवत्सर का स्थान वैश्य के घर होने से व्यापारिक तेजी देखने को मिलेगी। चंद्रमा मंत्री है। इस वजह से देश का वैभव बढ़ेगा। चंद्रमा की तेज गति के चलते देश में कोई भी स्थिति स्थिर नहीं रहेगी। उतार-चढ़ाव का माहौल बना रहेगा। दूध व सफेद वस्तुओं का उत्पादन इस साल में बढ़ेगा। हिंदू धर्म के अनुसार नव संवत्सर के दिन की माता दुर्गा ने देवताओं के बीच कार्य विभाजन किया था। इसी दिन से देवताओं को प्रकृति के संचालन की शक्ति प्रदान की थी। हिंदू धर्म में नए साल के रूप में मनाया जाता है।

देश को आर्थिक उन्नाति प्रदान करेगा

पंडित श्याम सुंदर पाराशर के मुताबिक 25 मार्च को नव संवत्सर की शुरूआत बुधवार को रेवती नक्षत्र व मीन राशि, चंद्रमा के गोचर में हो रही है। यह एक शुभ संयोग है। जो देश को आर्थिक उन्नति प्रदान करने वाला होगा।

सेनापति सूर्य सेना का बढ़ाएंगे प्रभाव, जमीन और भवनों के दाम बढ़ेंगे

पंडित पाराशर के अनुसार संवतसर में सेना के स्वामी यानि सेनापति सूर्य है। इससे सेना में कठोर नियम बनेंगे। विश्व में सेना का वैभव बढ़ेगा। सेना का इस साल में अत्याधुनिक हथियार मिलेंगे। सरकार के कुछ और कठोर कानून का विरोध होगा। ग्रह-नक्षत्र जातिगत हिंसा की और इशारा कर रहे हैं। इससे जमीन और भवनों के दामों में वृद्धि होगी।

चैत्रीय नवरात्र से देवी मंदिरों पर होंगे धार्मिक अनुष्ठान

चैत्रीय नवरात्र 25 मार्च से अनुष्ठान होंगे। इस मौके पर देवी मंदिरों पर धार्मिक आयोजनों के साथ जप,अनुष्ठान होंगे। नवरात्र को लेकर शहर के देवी मंदिरों में तैयारियां शुरू हो गई है। शहर में भवानीपुरा माता मंदिर, 17वीं बटालियन माता मंदिर, पावई माता मंदिर पर नवरात्र की तैयारियां चल रही हैं।