Hollywood की इस Film में 9 साल पहले ही बता दिया था कोरोना का कहर, ऐसी है फिल्म की कहानी

कोरोना वायरस से इस समय पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। कई लोग इस खतरनाक वायरस से संक्रमित बताए जा रहे हैं। हिंदुस्तान में भी इस वायरस ने अपनी जड़ें मजबूत करना शुरू कर दिया है. इसके बढ़ते प्रकोप के चलते देश में कई राज्यों में सिनामाघरों को बंद कर दिया गया है। ऐसे में एक ऐसी फिल्म है जिसको सबसे ज्यादा देखा जा रहा है. जिसे सबसे ज्यादा डाउनलोड किया जा रहा है. इस फिल्म में कोरोना जैसे ही एक वायरस के कहर से लोगों को मरते हुए दिखाया गया है, हम बात कर रहे हैं 9 साल पहले रिलीज हुई हॉलीवुड फिल्म Contagion की।

Contagion का डायरेक्शन स्टीवन सोडरबर्ग ने किया था. फिल्म में हूबहू वही दिखाया गया था जो इस समय पूरी दुनिया में नजर आ मिल रहा है. फिल्म में कोरोना जैसा ही एक वायरस दिखाया गया था जिसके चलते कई लोग अपनी जान गंवा देते हैं. सिर्फ यही नहीं फिल्म में दिखाया गया है कि इस वायरस के फैलने का कारण सूअर और चमगादड का मीट है। इस समय भी कुछ रिपोर्ट में ऐसा दावा किया गया है कि कोरोना वायरस भी चमगादड़ के चलते फैला है. फिल्म की ये समानताएं इसे 9 साल बाद इतना पॉपुलर बन रहा ही हैं कि इसे हजारों लोग डाउनलोड कर रहे हैं. कई इसे अमेजन प्राइम पर देखने की कोशिश कर रहे हैं।
एमजॉन

ऐसी है फिल्म की कहानी?

फिल्म की कहानी एक ऐसे वायरस के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसके संक्रमण के चलते महामारी फैल जाती है. फिल्म में एक शेफ दिखाया गया है. वो शेफ संक्रमित मांस को हाथ लगा लेता है. लेकिन लापरवाही करते हुए वो अपने हाथ नहीं धोता. इसके चलते उसके हाथों के माध्यम से वो वायरस ग्वेनेथ पाल्ट्रो के किरदार तक पहुंच जाता है. यही से ये वायरस फैलना शुरू होता है और एक महामारी का रूप ले लेता है. फिल्म में मैट डैमन, ग्वेनेथ पाल्ट्रो, केट विन्सलेट जैसे कलाकारों ने अहम भूमिका निभाई है।

वैसे ये फिल्म कितनी पावरफुल है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जब कोरोना वायरस फैलना शुरू भी नहीं हुआ उस समय भी इसे मोस्ट पोपुलर की श्रेणी में रखा गया था. कोरोना फैलने के बाद Contagion ट्रेंड करने लगी और देखते ही देखते पूरी दुनिया में ‘मोस्ट डिमांड फिल्म’ बन गई।

ट्रायोफोबिया भी ट्रेंड में

Contagion के अलावा ट्रायोफोबिया नाम की शॉर्ट फिल्म भी वायरल हो चली है. लोग यूट्यूब इसे कई बार देख रहे हैं. फिल्म में भी दिखाया गया है कि एक संक्रमण के चलते महिला की जिंदगी कैसे हमेशा के लिए बदल जाती है. गौर करने वाली बात ये है कि ये दोनों फिल्में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बाद सुर्खियों में आई हैं. इससे पहले ज्यादा लोगों इन फिल्मों के बारे में नहीं पता था।