2012 Delhi Nirbhaya case: निर्भया के दोषियों को फांसी पर लटकाने तिहाड़ पहुंचा जल्लाद

Advertisements

नई दिल्ली। निर्भया कांड के दोषियों के खिलाफ जारी डेथ वारंट में दर्ज फांसी पर लटकाने की अंतिम तिथि के नजदीक आते ही तिहाड़ जेल संख्या तीन के फांसी घर में हलचल बढऩी शुरू हो चुकी है। निर्भया के चारों दोषियों को लटकाने के लिए पवन जल्‍लाद दिल्‍ली के तिहाड़ जेल पहुंच चुका है। वह यहां अब फांसी घर का मुआयना कर सारी चीजों का बारीकी से परीक्षण करेगा।

तीन दिन पहले पहुंचा जल्‍लाद

इधर, सोमवार को जेल अधिकारियों ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ फांसी घर व आसपास के पूरे इलाके का जायजा लिया। इस दौरान फांसी घर की साफ सफाई के अलावा प्लेटफार्म का भी निरीक्षण किया। अधिकारी करीब एक घंटा तक फांसी घर में रहे। सोमवार को ही बताया गया था कि मंगलवार दोपहर बाद किसी भी समय जल्लाद तिहाड़ पहुंच सकता है और वह शाम करीब 5 बज कर 10 मिनट के आसपास तिहाड़ जेल पहुंचा है। इस बार जेल प्रशासन ने फांसी पर लटकाने की तय तिथि से तीन दिन पहले जल्लाद को बुलाया है। इससे इस बात की पूरी संभावना है कि फांसी से जुड़ा ट्रायल मंगलवार को ही शुरू हो जाए।

इसे भी पढ़ें-  Aryan Khan Drugs Case: ‘कसम खाता हूं, जेल से बाहर जाकर ड्रग्स को नहीं लगाऊंगा हाथ’, जानें आर्यन खान ने NCB से और क्या कहा

तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे अधिकारी

ऐसे में ट्रायल से पहले फांसी घर में तैयारियों को अंतिम रूप देने में अधिकारी जुटे रहे। सूत्रों का कहना है कि अधिकारियों ने उस बक्से को भी खोलकर देखा जिसमें फंदे के लिए बक्सर से मंगाई गई रस्सी रखी हैं। इन रस्सियों को मुलायम रखने के लिए समय-समय इन पर मक्खन व पके केले का लेप चढ़ाया जाता है। रस्सियों को भी अधिकारियों ने देखा और यह सुनिश्चित किया कि इसमें कोई खराबी तो नहीं आई है।

रस्सी मुलायम रखने की कवायद

सूत्रों का कहना है कि कुछ ऐसे भी रस्सियां अलग से रखी हैं जिन पर लेप नहीं चढ़ाया गया है। संभावना है कि यह कार्य मंगलवार को खुद जल्लाद ही करेगा, ताकि रस्सी मुलायम रहे। मुलायम रस्सी से फंदे को बनाने में आसानी होती है, क्योंकि इससे लचीलापन आ जाता है। गौरतलब है कि निर्भया के दोषियों को 20 मार्च की सुबह फांसी पर लटकाया जाना है।

इसे भी पढ़ें-  Aryan Khan Drugs Case: ‘कसम खाता हूं, जेल से बाहर जाकर ड्रग्स को नहीं लगाऊंगा हाथ’, जानें आर्यन खान ने NCB से और क्या कहा

निर्भया के तीन दोषियों की परिजनों से हो चुकी है अंतिम मुलाकात

निर्भया के चार दोषियों में से तीन की परिजनों से अंतिम मुलाकात कराई जा चुकी है। अब केवल अक्षय के ही परिजनों से अंतिम मुलाकात शेष रही है। सूत्रों का कहना है कि बुधवार तक अक्षय की परिजनों से अंतिम मुलाकात कराई जा सकती है। जेल मैनुअल के हिसाब से डेथ वारंट के बाद किसी भी दोषी को परिजनों से अंतिम मुलाकात का मौका दिया जाता है। इससे पूर्व भी डेथ वारंट जारी होने के बाद दोषियों की परिजनों से अंतिम मुलाकात कराई जाती रही है।

जेल प्रशासन के अनुसार अंतिम मुलाकात के बाद अब दोषियों को परिजनों से सामान्य मुलाकात कराई जा रही है। अंतिम मुलाकात और सामान्य मुलाकात में मुख्य फर्क यह है कि अंतिम मुलाकात में जहां दोषी अपने कई परिजनों से एक साथ मिल सकता है वहीं सामान्य मुलाकात में यह संख्या अधिकतम तीन हो सकती है। सामान्य मुलाकात जहां जेल के मुलाकात कक्ष में होती है वहीं अंतिम मुलाकात अधीक्षक कार्यालय परिसर में कराई जा सकती है। सामान्य मुलाकात में जहां आधे घंटे का समय तय रहता है वहीं अंतिम मुलाकात में समय सीमा को लेकर छूट मिलती है।

Advertisements