जीतनराम मांझी की लालू को बड़ी धमकी- बात माने RJD नेतृत्‍व, अन्‍यथा मार्च बाद लेंगे बड़ा फैसला

Advertisements

पटना। RJD  बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के पहले विपक्षी महागठबंधन (Grand Alliance) के घटक दलों के बीच खटपट की खबरें अाए दिन आ रही हैं। ताजा मामला हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (HAM) के राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के खिलाफ बयानबाजी का है। ‘‍हम’ सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री (Ex CM) जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने सोमवार को कहा कि आरजेडी महागठबंधन में बड़े भाई (Big Brother) की भूमिका में जरूर है, लेकिन वह बड़े भाई की भूमिका निभा नहीं पा रहा है। ऐसी ही स्थिति रही तो महागठबंधन के घटक दल मार्च के बाद कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।

इसे भी पढ़ें-  सुषमा, सोनिया से मुलायम तक; अमरिंदर ने फिर फोड़ा फोटो बम, पूछा- क्या इन सबके ISI से संबंध हैं?

जीतनराम मांझी ने महागठबंधन में आरजेडी के प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह (Jagdanand Singh) के उस बयान पर भी आपत्ति दर्ज की, जिसमें उन्‍हाेंने कहा था कि महागठबंधन के नेता केवल लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad yadav) हैं और जिसे यह नहीं स्‍वीकर नहीं, वे बाहर जा सकते हैं। मांझी का बयान नाम लिए बगैर आरजेडी सु्प्रीमो लालू प्रसाद यादव को धमकी माना जा रहा है।

RJD
कांग्रेस का आश्‍वासन देकर मुकर गया आरजेडी

मांझी ने कहा कि आरजेडी ने कांग्रेस (Congress) को राज्यसभा (Rajya Sabha) की एक सीट देने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अंतिम समय में एक व्‍यवसायी को टिकट दे दिया गया। सभी अवगत हैं कि उन्‍हें किस कारण राज्यसभा भेजा जा रहा है। ऐसे ही हालात रहे तो आने वाले दिनों में आरजेडी की महागठबंधन में बड़ा भाई वाली भूमिका बदल सकती है। मांझी ने स्‍पष्‍ट किया कि वे महागठबंधन में आरजेडी के मित्र हैं और इस हैसियत से उसकी गलती को बताते रहते हैं।

इसे भी पढ़ें-  IND vs PAK, T20 World Cup 2021: पाकिस्तान ने जीता टॉस , विराट ने बाहर किए ये 4 खिलाड़ी, जानिए भारत-पाक की Playing 11

RJD  रवैया बदले आरजेडी, अन्‍यथा मार्च बाद बड़ा फैसला

महागठबंधन में कोऑर्डिनेशन कमेटी (Co-ordination Committee) को ले मांझी ने कहा कि इसका गठन हो और चाहे महागठबंधन का नेतृत्व हो, मुख्‍यमंत्री उम्‍मीदवार (CM Candidate) हो या आंदोलन, कोई भी फैसला सबकी सहमति से हो। लेकिन आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह कहते हैं कि लालू यादव ही महागठबंधन के नेता हैं अौर तेजस्‍वी यादव मुख्‍यमंत्री उम्‍मीदवार। वे यह भी कहते हैं कि जिसे यह स्वीकार नहीं हो वह महागठबंधन से बाहर जा सकता है। मांझी ने कहा कि आरजेडी नेतृत्‍व को इस रवैये में बदलाव करना होगा। अगर यही रवैया रहा तो मार्च के बाद घटक दल विकल्प तलाशने को मजबूर हो जाएंगे।

Advertisements