शिवराज बोले सीएम कमलनाथ का बयान मासूमियत भरा, फ्लोरटेस्ट से न भागें

Advertisements

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजनीति में हर पल नए नए ट्विस्ट आ रहे हैं। दोपहर तक फ्लोरटेस्ट की तैयारी चल रही थी तो शाम होते होते विधानसभा की कार्यसूची से फ्लोरटेस्ट गायब हो गया। राज्यपाल ने सीएम कमलनाथ को बुलाया उन्होंने गेंद स्पीकर के पाले में डाल दी।

इस बीच देर रात भाजपा सरकार के इस रवैये के ख़िलाफ़ आक्रोशित हो गई। पहले नेता प्रतिपक्ष और अब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने फ्लोरटेस्ट को गायब करने तथा इस पर सीएम कमलनाथ के बयान को मासूमियत भरा करार देते हुए कहा कि सरकार फ्लोरटेस्ट से भाग नहीं सकती । चौहान ने कहा कि सरकार सदन में बहुमत सिद्द नहीं कर सकती और वह डर गई है लिहाजा असंवैधानिक कार्य मे जुट गई है। उन्होनें कहा कि सीएम इधर उधर की बात छोड़ें और सीधे फ्लोरटेस्ट की बात करें।

इसे भी पढ़ें-  MP GOVT JOBS- दीनदयाल योजना में BA-MA-DCA वालों के लिए सरकारी नौकरियां

आपको बता दें कि विधानसभा की कार्यसूची से फ्लोरटेस्ट का जिक्र ही नहीं था जबकि राज्यपाल ने इस आशय के आदेश दिए थे। इस बारे में सीएम कमलनाथ से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये काम स्पीकर का है।

Advertisements