जम्मू-कश्मीर से भी ठंडा हिमाचल, श्रीनगर में टूटा …

Advertisements

नई दिल्ली। देश के पहाड़ी राज्यों में हाड़ कंपाने वाली ठंड पड़ रही है। खासतौर पर जम्मू कश्मीर और हिमाचल ठंड से ठिठुर रहे हैं। इस बीच शुक्रवार को हिमाचल प्रदेश के केलंग में तापमान माइनस 7.5 डिग्री रिकॉर्ड किया गया, वहीं श्रीनगर में ठंड का दस साल का रिकॉर्ड टूट गया।

शुक्रवार को हिमाचल प्रदेश का न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से करीब आठ डिग्री सेल्सियस नीचे लुढ़क गया। हिमाचल शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर से भी ठंडा रहा। प्रदेश के पांच शहरों में न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु के आसपास रिकॉर्ड किया गया। जम्मू का न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री सेल्सियस, जबकि श्रीनगर का न्यूनतम तापमान माइनस 3.1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

श्रीनगर से ठंडा हिमाचल प्रदेश-

हिमाचल की राजधानी शिमला का न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस और केलंग में न्यूनतम तापमान माइनस 7.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वहीं जम्म-कश्मीर में पूरी वादी ठंड की चपेट में है। श्रीनगर में रात के समय ठंड नए रिकॉर्ड बनाती जा रही है। शुक्रवार को ठंड ने दस साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया।

श्रीनगर में टूटा दस साल का रिकॉर्ड-

श्रीनगर में न्यूनतम तापमान माइनस 3.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो पिछले 10 वर्षों में नवंबर में सबसे कम न्यूनतम तापमान है। इससे पूर्व 28 नवंबर 2007 को श्रीनगर में न्यूनतम तापमान माइनस 4.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था।लेह में न्यूनतम तापमान माइनस 13.3 डिग्री सेल्सियस, गुलमर्ग में माइनस 6.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पहलगाम में न्यूनतम तापमान माइनस 5.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

मनाली में आठ घंटे फंसे रहे 110 लोग-

लाहुल के ग्राफू से निकलकर करीब 30 वाहन रोहतांग से सटे राहनीनाला में फंस गए। इससे इन वाहनों में सवार करीब 110 लोगों को बर्फीली हवाओं के बीच रात तीन बजे तक परेशान होना पड़ा। लोगों में बच्चे और बुजुर्ग भी शामिल थे। रेस्क्यू टीम ने बीआरओ की मदद से रात करीब तीन बजे फंसे लोगों को सुरक्षित निकालकर मढ़ी पहुंचाया।

ये लोग राहनीनाला में माइनस 12 डिग्री तापमान में करीब आठ घंटे तक फंसे रहे। भूख और प्यास से कई लोगों की तबीयत भी खराब हो गई। बाहर तेज बर्फीली हवा चलने के कारण यात्रियों का वाहन से बाहर निकलना मुश्किल हो गया।

Advertisements