महिला अपराधों के लगातार बढ़ता ग्राफ, नहीं लग पा रहा अकुंश

Advertisements

जबलपुर मुनप्र। शहर और जिले के थाना क्षेत्रों में प्रतिदिन महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों के मामले सामने आ रहे है। जिसमें बलात्कार से लेकर छेड़खानी और उत्पीड़न के मामले भी शामिल है शायद ही काई दिन ऐसा बीतता होगा जब इस तरह की कोई घटना सामने न आती हो। गत दिवस गौर चौकी अन्तर्गत एक चार साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया तो वहीं रांझी थाना क्षेत्र में एक पन्द्रह वर्षीय किशोरी के अपहरण की शिकायत भी दर्ज कराई गई। गत दिवस घमापुर थाना क्षेत्र में रहने वाली एक सत्रह वर्षीय किशोरी के अपहरण की शिकायत भी रोजनामचे में दर्ज कराई गई है। इसके अलावा ओमती पुलिस में शादी का झांसा देकर एक युवती के साथ दुष्कर्म का मामला भी सामने आया है। महिलाओं के साथ लगातार होने वाली लूट की घटनाएं भी आम होती जा रही है। जिस पर अंकुश लगाने में पुलिस नाकाम साबित हो रही है। ऐसा नही है कि महिलाओं के साथ सिर्फ बलात्कार छेड़खानी और अपहरण के मामले ही सामने आ रहे हो शादी शुदा महिलाओं के साथ उत्पीड़न की घटनाएं भी लगातार बढ़ रही है। जिसके कारण महिलाओं को आत्मघाती कदम तक उठाने विवश होना पड़ रहा है। कहने को तो पुलिस प्रशासन महिला अपराधों पर अकुंश लगाने के लिए जमाने भर के कवायद करने के दावे करता है कि न्तु ये सभी दावे खोखले साबित हो रहे हैं। माढ़ोताल थाना क्षेत्र के बनियाखेड़ा में पति से प्रताड़ित होकर एक महिला द्वारा आत्महत्या किये जाने का मामला सामने आया और जांच के बाद पति के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया। इस तरह की घटनाएं रोजाना सामने आ रही है। महिलाओं के साथ होने वाली अपराधों को लेकर गत दिवस मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के समस्त आईजी, डीआईजी की कांफ्रेंस को संबोधित किया और महिला अपराधों की रोकथाम के लिए संवेदनशीलता और तत्परता से कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

Advertisements