आपत्तिजनक Facebook पोस्ट पर NRC Cordinator से सफाई मांगे असम सरकार : सुप्रीम कोर्ट

Advertisements

नई दिल्ली ।सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को असम सरकार से नवनियुक्त एनआरसी समन्वयक हितेशदेव शर्मा से उनकी फेसबुक पोस्ट पर सफाई मांगने को कहा है। दरअसल, शर्मा ने अपनी पोस्ट में अवैध घुसपैठियों के बारे में आपत्तिजनक व सांप्रदायिक पोस्ट की थी। चीफ जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस सूर्यकांत की पीठ ने यह निर्देश शर्मा को समन्वयक पद हटाने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान दिया।

 

 

वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कहा, शर्मा ने पोस्ट में ‘पूर्वी पाकिस्तानी मुस्लिम’ और ‘अल्पसंख्यक तुष्टिकरण’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया। इससे उनका झुकाव दिखता है। हालांकि पीठ ने शुरुआत में कहा कि अधिकारी की ईमानदारी पर संदेह नहीं किया जा सकता। संभव है कि पोस्ट उन्होंने एनआरसी समन्वयक बनने से पहले की हो, लेकिन बाद में अधिकारी से सफाई मांगने का निर्देश दिया।

कोर्ट ने केंद्र व असम सरकार की ओर से पेश सॉलीसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा, उन्हें (हितेश देव को) ऐसा नहीं कहना चाहिए था। आप उनसे सफाई मांगकर कोर्ट में पेश कीजिए। 1986 बैच के असम सिविल सेवा अधिकारी शर्मा को प्रतीक हजेला की जगह एनआरसी समन्वयक नियुक्त किया गया है।

बच्चों को डिटेंशन सेंटर नहीं भेजा जाएगा : केंद्र सरकार
केंद्र सरकार की ओर से पेश अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने सुप्रीम कोर्ट को भरोसा दिलाया कि एनआरसी में छूटे ऐसे 60 बच्चों को डिटेंशन सेंटर नहीं भेजा जाएगा जिनके माता-पिता का नाम अंतिम सूची में शामिल है।

अटॉर्नी जनरल ने कहा, इन बच्चों को इनके माता-पिता से अलग नहीं किया जाएगा। ऐसा अंदेशा था कि इन बच्चों को डिटेंशन सेंटर भेजा जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने एनआरसी से जुड़ी याचिकाओं पर केंद्र व असम सरकार को नोटिस जारी कर चार हफ्तों में जवाब मांगा है।

भाजपा की पत्रिका में छपा एनआरसी लागू होगा

द्रमुक ने राज्यपाल के अभिभाषण से किया वॉकआउट
नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में सोमवार को तमिलनाडु में विपक्षी डीएमके ने राज्यपाल के अभिभाषण का वॉकआउट किया। विधानसभा में जैसे ही राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित भाषण देने खड़े हुए द्रमुक नेता एमके स्टॉलिन खड़े होकर कुछ बोलने लगे। राज्यपाल ने उनसे बैठने की अपील की, लेकिन स्टालिन सदन से वॉकआउट कर गए।

भाजपा की पत्रिका में छपा एनआरसी लागू होगा
पधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के वरिष्ठ नेता भले यह कह रहे हों कि अभी एनआरसी पर कोई चर्चा नहीं हुई है लेकिन पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई ने दावा किया है कि सीएए लागू होने के बाद एनआरसी लागू होगा। सीएए के समर्थन में जनसंपर्क अभियान के तहत वितरित इस पत्रिका में कहा गया है कि अब एनआरसी भी लागू होगा। वहीं, सीएए का विरोध कर रही तृणमूल कांग्रेस सांसद कल्याण बनर्जी ने कहा है कि सीएम ममता बनर्जी ने आंदोलन से भाजपा को बेचैन कर दिया है।

हिंदुत्व को बचाने के लिए सीएए : विहिप
विहिप महासचिव राघवुलु ने कहा कि नागरिकता कानून हिंदुत्व को बचाने के लिए बनाया गया है। आखिरकार इसमें गलत क्या है।

पीयूष गोयल ने फिल्मी दिग्गजों को समझाया सीएए
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को सिने जगत की चर्चित हस्तियों से मुलाकात करके उन्हें सीएए के बारे में समझाया। इन लोगों में प्रसून जोशी, उर्वशी रौतेला, रणवीर शौरी, रितेश सिधवानी, कैलाश खेर, अनु मलिक, भूषण कुमार भी शामिल थे।

Advertisements