Katni : कोतवाली के सामने 18 लाख की सनसनीखेज चोरी

Advertisements

देररात नेमा पैथालॉजी सेंटर में चोरों का धावा,आरोपियों का सुराग लगाने में जुटी पुलिस
कटनी। पुलिस अभी पिछली कई चोरी की वारदातों में शामिल आरोपियों का सुराग भी नहीं लगा पाई थी कि देररात बुलंद हौंसले वाले चोरों ने कोतवाली के ठीक सामने स्थित नेमा पैथालॉजी सेंटर में धावा बोला और शटर का ताला तोड़कर अंदर दराज में रखे 18 लाख रूपए लेकर चंपत हो गए।


आज सुबह रोज की तरह पैथालॉजी सेंटर का ताला खोलने पहुंचे संतनगर निवासी आर.के.नेमा को सेंटर में चोरी की जानकारी लगी। जिसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई। कोतवाली के ठीक सामने 18 लाख रूपए की सनसनीखेज चोरी की वारदात की जानकारी लगते ही नगर पुलिस अधीक्षक एम.पी.प्रजापति, कोतवाली प्रभारी विजय विश्वकर्मा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए और मौका मुआयना करने के बाद अज्ञात बदमाशों के विरूद्ध मामला दर्ज कर उनकी तलाश व गिरफ्तारी के प्रयास शुरू किए लेकिन काफी मेहनत के बावजूद बदमाशों की गिरफ्तारी तो दूर समाचार लिखे जाने तक पुलिस उनका सुराग भी नहीं लगा पाई थी।

पुलिस को वारदात लग रही संदिग्ध
उधर एक जानकारी में यह भी बताया जा रहा है कि पैथालॉजी सेंटर संचालक संतनगर निवासी आर.के.नेमा ने किसी जमीन का सौदा मकान बनाने के लिए किया था। उसी जमीन को खरीदने के लिए उन्होने विजयाबैंक से 18 लाख रूपए लोन लेकर विक्रेता को देने रखे थे। अब सवाल यह उठता है कि इतनी बड़ी रकम व मकान पास में होने के बावजूद उन्होने इसे असुरक्षित सेंटर में क्यों रखा। इसलिए इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है और यह भी पता लगा रही है कि बैंक से लिया गया यह लोन कहीं बीमित तो नहीं है क्योंकि कई वारदातों में यह भी सामने आ चुका है कि लोग बीमित रकम की चोरी दर्शा कर बीमा कंपनी से दुबारा पैसे ले लेते हैं।

संदिग्धों से हिरासत में पूछताछ जारी
थाने के ठीक सामने हुई 18 लाख रूपए की चोरी से कोतवाली पुलिस के भी हाथ पांच फुल आए हैं। वारदात को सुलझाने पुलिस एड़ी चोटी का जोर लगा रही है तथा कोतवाली क्षेत्र के संदिग्ध बदमाशों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इसके लिए चोरी की पुरानी वारदातों में पकड़े गए युवकों को भी पुलिस तलाश रही है।


नौकरों पर भी संदेह-कोतवाली प्रभारी

कोतवाली प्रभारी विजय विश्वकर्मा का कहना है कि पैथालॉजी सेंटर में हुई 18 लाख की चोरी को पुलिस ने चुनौती के रूप में लिया है तथा वारदात से पर्दा उठाने हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। श्री विश्वकर्मा ने बताया कि पैथालॉजी सेंटर में काम करने वाले कर्मचारियों के संबंध में भी जानकारी एकत्रित की जा रही है और उनसे भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस का मानना है कि इतनी बड़ी चोरी में कोई जानकारी का हाथ हो सकता है।

खोजी कुत्ते से भी नहीं मिली मदद
वारदात की जानकारी लगने के बाद पुलिस ने मामले की गुत्थी सुलझाने खोजी कुत्ते और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट की भी मदद ली है। खोजी कुत्ता पैथालॉजी सेंटर से निकल कर बाहर तक आया और इसके बाद आगें नहीं बढ़ा। कुल मिलाकर खोजी कुत्ते की भी मदद पुलिस को नहीं मिली।

बरही रोड में टूटा मिल्क पार्लर का ताला
वहीं कोतवाली के ही बरही रोड क्षेत्र स्थित एक मिल्क पार्लर का ताला तोड़कर बदमाश अंदर से लगभग 16 हजार रूपए लेकर चंपत हो गए। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सिविल लाइन निवासी विजय मिश्रा का बरही रोड क्षेत्र में मिल्क पार्लर है। जिसका ताला तोड़कर बदमाश अंदर रखे 15 हजार 500 रूपए पार कर दिए। पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के विरूद्ध धारा 457, 380 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

Advertisements