पद्मावती विवाद : दीपिका, भंसाली को धमकाने वाले बीजेपी नेता के खिलाफ एफआईआर

Advertisements

संजय लीला भंसाली की फिल्‍म ‘पद्मावती’ को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। हरियाणा में बीजेपी के मीडिया को-आर्डिनेटर सूरज पाल अमू के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। अमू ने दीपिका पादुकोण और भंसाली का सिर काटने वाले को 10 करोड़ रुपये इनाम का ऐलान किया था। वहीं, जम्मू एवं कश्मीर में नेशनल कांफ्रेंस के वरिष्ठ नेता और विधायक देवेंद्र राणा ने मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से राज्य में ‘पद्मावती’ की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया है। नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के विधायक देवेंद्र राणा ने जम्मू एवं कश्मीर में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से राज्य में पद्मावती की रिलीज पर प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया है। महबूबा को लिखे एक पत्र में राणा ने कहा, “संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की रिलीज एक विशेष जाति और धर्म की भावनाओं को आहत करती है और जम्मू क्षेत्र में शांति को बाधित करने की क्षमता रखती है।”

राजपूत समुदाय का कहना है कि फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ किया गया है। जबकि भंसाली लगातार इस आरोप को खारिज कर रहे हैं। निर्माताओं द्वारा ‘पद्मावती’ की रिलीज स्थगित किए जाने के बाद सोमवार को तीन मुख्यमंत्री इस विवाद में कूद पड़े। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य में फिल्म की रिलीज पर प्रतिबंध लगा दिया, जबकि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने राजपूत समुदाय की आपत्तियों का समर्थन किया। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस विवाद को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार दिया और इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को धवस्त करने की एक ‘सोची समझी योजना’ बताया।

पूरे विवाद पर उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि ‘हमने इस मामले पर अपना स्‍टैंड साफ कर दिया है। लिखित में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को लिखा है। सुप्रीम कोर्ट ने भी साफ किया है कि सीबीएफसी को फैसला लेना है।’

Advertisements