पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ ने किया पथराव, सिख समुदाय में आक्रोश, हालात तनावपूर्ण

Advertisements

वेब डेस्क। पाकिस्तान के ननकाना साहिब (nankana sahib) में भीड़ ने सिखों के पवित्र स्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव कर दिया और सिखों के खिलाफ नारेबाजी की। पत्थरबाजी के कारण पहली बार भजन कीर्तन रद्द करना पड़ा।

सैकड़ों लोगों ने शुक्रवार को गुरुद्वारे को घेर लिया। भीड़ की अगुवाई मोहम्मद हसन के परिवार ने की, जिस पर एक सिख लड़की का जबरन धर्मांतरण कराने का आरोप है। घटना के बाद बड़ी तादाद में पुलिस को इलाके में तैनात किया गया है, लेकिन हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। घटना की सिख समुदाय में आक्रोश है।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें गुरुद्वारे के बाहर इकट्ठा हुई भीड़ दिख रही है। लोग सिखों के खिलाफ नारेबाजी और उन्हें शहर से भगाने की धमकी देते दिखाई दे रहे हैं। इतना ही नहीं वह पवित्र शहर का नाम बदलने की धमकी भी दे रहे हैं।

प्रदर्शनकारियों कहते हैं कि वे जल्द ही जगह का नाम गुलाम ए मुस्तफा कराएंगे। कोई भी सिख ननकाना में नहीं रहेगा। घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और कार्रवाई करते हुए कई पत्थरबाजों को गिरफ्तार किया है।

भारत ने की निंदा

भारत ने पाकिस्तान में पवित्र ननकाना साहिब (nankana sahib) गुरद्वारे में तोड़फोड़ की निन्दा की है।

पाक पीएम से तुरंत कार्रवाई की मांग 

दिल्ली के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने घटना का वीडियो शेयर करते हुए पाकिस्तानी पीएम इमरान खान से तुरंत मामले में कार्रवाई करने की मांग की। सिरसा ने कहा कि गुरुद्वारे पर हमले के बाद पूरे पाकिस्तान में सिख समुदाय में दहशत का माहौल है। कई पाकिस्तानी सिख उन्हें फोन कर डर जता रहे हैं। इस बीच, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति और अकाली दल ने शनिवार को पाकिस्तानी दूतावास के बाहर प्रदर्शन करने का एलान किया है।

यह है मामला 

गुरुद्वारे के ग्रंथी का आरोप है कि उनकी बेटी जगजीत कौर का कुछ लोगों ने बंदूक की नोक पर अपहरण किया और उसका जबरन निकाह कराया गया। वहीं एक वीडियो में लड़की ने अपनी मर्जी से धर्मांतरण करने का दावा किया है। आरोपी मोहम्मद हसन का परिवार का कहना है कि अपनी मर्जी से इस्लाम कबूलने और शादी करने पर सिख समुदाय बेवजह हंगामा करता है।
Advertisements