LOAN- रुकिए, पूरी जानकारी के बिना मत लीजिए पर्सनल लोन

Advertisements

दिल्‍ली। आमतौर पर लोग अपनी बड़ी जरूरतें पूरी करने के लिए लोन लेते हैं। अधिकांश लोग लोन लेने के दौरान एजेंट के चक्कर में आकर लोन से जुड़ी पूरी जानकारी लेने की कोशिश नहीं करते हैं और बाद में उन्हें परेशानी उठानी पड़ती है।

हम अपनी इस खबर के माध्यम से आपको बताने की कोशिश करेंगे कि पर्सनल लोन लेने के दौरान किन बातों को ध्यान में रखना है, आपके लिए क्या फायदेमंद हो सकता है।

विशेषज्ञों का यह है कहना फाइनेंशियल प्लानर रीतेश शर्मा ने बताया कि अगर आप अपनी अहम जरूरत को पूरा करने के लिए पर्सनल लोन लेने जा रहे हैं तो आपको बैंक कर्मी या फिर एजेंट, जिसके मार्फत आप बैंक से लोन लेने जा रहे हैं, उससे कुछ अहम सवाल पूछने चाहिए।

इन सवालों के संतोषजनक जवाब मिलने के बाद ही आपको अपने लोन की एप्लीकेशन को आगे बढ़ाना चाहिए। जैसे कि कुछ बैंक अपनी लोन राशि में कुछ हिडेन चार्ज और प्रोसेसिंग फीस को शामिल कर लेते हैं, जिन्हें वे नहीं बताते। साथ ही आपको बैंक से यह भी पूछना चाहिए कि अगर आप बैंक का कर्ज नहीं चुका पाते हैं तो आप पर किस हिसाब से पेनाल्टी लगेगी।

वहीं अगर किसी सूरत में आप एक या दो ईएमआई का भुगतान करने से चूक जाते हैं तो तब बैंक किस तरह की कार्रवाई करेगा। ये सब जानकारियां हासिल करना काफी अहम होता है। उन्होंने बताया कि कुछ सरकारी बैंक ईएमआई में देरी पर कुछ छूट दे देते हैं, लेकिन प्राइवेट बैंकों के संबंध में ऐसा नहीं होता है, इसलिए बेहतर रहेगा कि आप इन सभी जानकारियों को हासिल कर ही लोन के लिए आवेदन करें।

पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने से पहले उसके संबंधित डॉक्यूमेंट्स को ध्यान से पढ़े। सुनिश्चित करें कि सभी नियम व शर्तें आप पूरी तरह से पढ़ चुके हैं। साथ ही लोन लेते समय बताई गईं नियम व शर्तों के अलावा और कोई औपचारिकता तो नहीं बाकी रह गई है। अधिकांश समय एजेंट लोन देते वक्त अपने सेल्स टारगेट को पूरा करने के चक्कर में ग्राहकों को पर्याप्त जानकारी नहीं देते हैं। इसलिए लोन लेते समय सारे दस्तावेज ध्यान से पढ़ें।

अपने आधार पर बैंक का चयन करें, इसमें लंबी अवधि से लेकर कम प्री-क्लोकजर चार्ज पर फोकस कर सकते हैं। कुछ बैंक पर्सनल लोन पर जीरो प्री-क्लोजर चार्ज ऑफर करते हैं और कुछ लंबी अवधि का विकल्प देते हैं।

यदि किसी स्थिति में तीन महीने बाद बोनस मिलने की उम्मीद है और आप अपने पर्सनल लोन पर इसके कुछ हिस्से का पूर्व-भुगतान कर सकते हैं तो आप ऐसे बैंक का चयन कर सकते हैं, जो आपसे प्रीपेमेंट या प्री-क्लोजर चार्ज नहीं ले रहे हैं।

एक बार जब आप विभिन्न बैंकों के ऑफर्स के बारे में जान लेते हैं तब समय आता है कि आप अपनी जरूरत के आधार पर बैंकों के ऑफर्स की तुलना करें। पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने से पहले बैंक का चयन पूरे विवेक से करें।

ये जानकारी है तो होगा आपका फायदा

पर्सनल लोन लेने का मन बनाने से पहले आप विभिन्न बैंकों की ओर से दिए जाने वाली ब्याज दरों के बारे में पता जरूर कर लें। साथ ही लोन के लिए न सिर्फ ब्याज दर या ईएमआई अहम है, बल्कि प्रोसेसिंग फीस, डॉक्यूमेंटेशन चार्जेस और प्री क्लोजर के चार्जेस के बारे में भी सारी जानकारी लेना काफी जरूरी होता है।

अन्य विकल्पों के बारे में करें पता सुरक्षित लोन विकल्प जैसे कि गोल्ड के एवज में मिलने वाला लोन या अन्य प्रतिभूतियों पर आमतौर पर ब्याज दर कम होती हैं, इसलिए अगर ऐसा कोई विकल्प आपके लिए संभव है तो उसका चयन करें। ऐसा इसलिए क्योंकि पर्सनल लोन पर ब्याज दरें काफी ऊंची होती हैं।

Advertisements