North India : में ठंड का कहर, यूपी में 25 की मौत के बाद घने कोहरे की चेतावनी जारी

Advertisements

पहाड़ों में लगातार हो रही बर्फबारी के चलते उत्तरी भारत शीतलहर की चपेट में है। ठंड से उत्तर प्रदेश में बुधवार रात से बृहस्पतिवार तक विभिन्न जिलों में 25 लोगों की जान चली गई।

इनमें चंदौली में 6, हमीरपुर में 4, बांदा, बलिया व गाजीपुर में 2-2, वाराणसी, भदोही, जौनपुर, आजमगढ़, मऊ, चित्रकूट, महोबा, फतेहपुर व हाथरस में एक-एक की मौत हुई है। प्रदेश में बागपत में न्यूनतम तापमान 4.9, मुजफ्फनरगर में 5 और सहारनपुर 6 व वाराणसी में 8.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

फिलहाल ठंड से राहत के कोई आसार नहीं नजर आ रहे हैं। पूर्वांचल में बीते 24 घंटे में 15 लोगों की जान चली गई। चंदौली जिले में मजनू (5), इंद्रनाथ सिंह चौहान (62), लक्ष्मण यादव (65), रज्जन मौर्या (60), रामवृक्ष मौर्य (60) और वीरेंद्र माली (55) की ठंड से मौत हो गई।

गाजीपुर में चमेला देवी (68) व रेखा (6) और बलिया में शिव शंकर यादव उर्फ पेटू (70), उपेंद्र यादव (48) की मौत हुई है। इसके अलावा वाराणसी में सिताबुन (75), भदोही में राजनारायण गुप्ता उर्फ नबी (53), जौनपुर में सालिक राम (50) और आजमगढ़ में बालचंद (58) तथा मऊ में एक अज्ञात वृद्ध की भी मौत हो गई।

बुंदेलखंड के महोबा में रूपरानी (70), हमीरपुर में समर (7), गजराज यादव (75), फूलमती (85) व सुखदेई सिंह (90) की भी ठंड से जान चली गई। चित्रकूट में जगदीश प्रसाद, बांदा में दुर्गेश लोध (38) और झंडू (90) की मौत हुई है। उधर, फतेहपुर जिले के असोथर क्षेत्र के बेसढ़ी गांव निवासी सेवानिवृत्त शिक्षक राजविभीषण राजपूत व हाथरस में अलीगढ़ रोड स्थित गांव तमनागढ़ी में एक बुजुर्ग की ठंड से मौत हो गई।
उत्तर प्रदेश: धूप से भी राहत नहीं, प्रदेश में घने कोहरे की चेतावनी जारी
दो दिनों बाद प्रदेश के अधिकतर इलाकों में दोपहर केसमय खिली धूप के बावजूद प्रदेश को गलन भरी बर्फीली ठंड से कोई राहत नहीं मिली। ठिठुराती पछुआ केसाथ बृहस्पतिवार को दिन भर मौसम के तेवरों ने कंपाया। दो दिन बाद अधिकांश इलाकों में धूप खिली जरूर, लेकिन हवा के झोंके गलन का अहसास कराते रहे, इसलिये धूप के बावजूद गलन से कोई खास राहत नहीं मिली।
मौसम विज्ञानियों ने शुक्रवार को प्रदेश के कई इलाकों में कोल्ड डे कंडीशन जारी रहने और घना कोहरा पड़ने की चेतावनी जारी की है। प्रदेश में बृहस्पतिवार को आगरा 5.5 और मेरठ 5.6 डिग्री न्यूनतम तापमान केसाथ सबसे ठंडे शहर रहे। वाराणसी एपी 6.6, झांसी 6, चुर्क 6.6, बांदा 6 डिग्री केसाथ प्रदेश के अन्य ठंडे शहर रहे।
कामचलाऊ धूप खिलने और हवाओं केचलते प्रदेश के अधिकतर इलाकों में अधिकतम तापमान भी 14 से 18 डिग्री सेल्सियस केबीच दर्ज किया गया। ये सामान्य से 4 से 10 डिग्री सेल्सियस तक कमदर्ज किया गया।
कोहरे की चादर में ढका गुरुग्राम, पारा लुढ़का
एक दिन पहले के मुकाबले बृहस्पतिवार को एक बार फिर से मौसम का मिजाज पूरी तरह बदल गया और घने कोहरे के साथ ही ठंड में बढ़ोतरी हो गई। ठंड बढ़ने के कारण लोग दिन भर ठिठुरते नजर आए तो शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों ने ठंड से बचाव के लिए अलाव का भी सहारा लिया।
तापमान में भी एक दिन पहले के मुकाबले बृहस्पतिवार को 3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को न्यूनतम तापमान 10.4 डिग्री सेल्सियस था। वहीं बृहस्पतिवार को न्यूनतम तापमान 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, देर रात पारा और भी लुढ़क गया और न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोग अलाव तापते नजर आए। बृहस्पतिवार को भी कड़ाके की ठंड के बीच बच्चे अपने अभिभावकों के साथ स्कूलों में पहुंचे। सुबह के समय छाए घने कोहरे के कारण दृश्यता महज 200-300 मीटर की रह गई थी, जिसके कारण सड़कों पर वाहन रेंगते हुए नजर आए।
दिन भर जली अलाव: कोहरे के कारण बढ़ी ठंड से बचने के लिए लोगों ने जगह-जगह अलाव जलाकर ठंड से बचाव का इंतजाम किया। रेलवे स्टेशन से लेकर झुग्गी-झोपड़ियों व अन्य जगहों पर लोग अलाव जलाकर हाथ-पैर सेंकते नजर आए। हालांकि, मौसम विभाग ने आगामी दो-तीन दिनों के दौरान तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने से ठंड से राहत मिलने की उम्मीद जताई है।
एक्सप्रेसवे पर थमी वाहनों की रफ्तार: दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेसवे पर वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। सामान्य दिनों में एक्सप्रेसवे पर वाहनों की औसत गति 60-80 किमी प्रति घंटा रहती है, जबकि शनिवार की सुबह वाहन चालक 30-35 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से वाहन चलाते नजर आए।
मेरठ: ठिठुरे लोग, 5.6 डिग्री पहुंचा तापमान: चरम पर पहुंची ठंड से शहरवासियों की कंपकंपी छूट रही है। लोग घरों में कैद हैं और जनजीवन प्रभावित हो रहा है। दिन का तापमान पांच डिग्री के आसपास पहुंच गया है, जो कि सामान्य से आठ डिग्री कम है। बीते तीन दिनों से लोगों को सूरज के दर्शन भी नहीं हुए हैं। वहीं आने वाले दो दिनों तक ठंड से राहत के आसार नहीं दिखाई दे रहे हैं।
मौसम कार्यालय पर अधिकतम तापमान 14.3 डिग्री व न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। अधिकतम आर्द्रता 94 व न्यूनतम 75 प्रतिशत दर्ज की गई है। हवा की रफ्तार दिन में 6 से 8 किमी प्रति घंटे रही। आईआईएफएसआर के मौसम वैज्ञानिक डॉ. एन सुभाष ने कहा कि दिन का तापमान सामान्य से आठ डिग्री और रात का दो डिग्री कम रहा। आने वाले दो दिनों तक मौसम में बदलाव के आसार नहीं है। सुबह कोहरा रहेगा। धूप हल्की रहेगी।
एनसीआर में फिर बढ़ा एक्यूआई: मेरठ में बीते दो दिनों से लगातार एक्यूआई बढ़ रहा है। बृहस्पतिवार को मेरठ का एक्यूआई 264 रहा। जबकि बागपत 337, गाजियाबाद 391 व नोएडा में 378 है। हवाओं की गति धीमी होने से सुबह के समय कोहरा व दिन में धुंध होने के कारण एक्यूआई बढ़ रहा है। इससे लोगों को परेशानी हो रही है।
बागपत सबसे ठंडा, न्यूनतम पारा 4.9: वहीं, बागपत, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बिजनौर, शामली में भी शीत लहर का प्रकोप है। सुबह और शाम के समय कोहरा पड़ा, तो दिन भर सूरज नहीं निकला। बागपत में न्यूनतम तापमान 4.9 रहने से सबसे ज्यादा ठंड रही। जिले के भड़ल गांव के पास मानसिक रोगी महिला का शव पड़ा मिला। ठंड से मौत होना बताया गया है।
मुजफ्फरनगर में तापमान न्यूनतम 5 और अधिकतम 12.7, सहारनपुर में न्यूनतम 6 और अधिकतम 17 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शामली में न्यूनतम 7 और अधिकतम 16 डिग्री सेल्सियस रहा। बिजनौर में न्यूनतम तापमान 8.8 डिग्री सेल्सियस और सहारनपुर में न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस रहा।

Advertisements