हैदराबाद एनकाउंटर पर CJI का बड़ा बयान, ‘बदले की भावना वाला न्याय अपना मूल चरित्र खो देता है’

Advertisements

जोधपुर। भारत के चीफ जस्टिस (CJI) एस ए बोबडे ने कहा है कि बदले की भावना वाला न्याय अपना मूल चरित्र खो देता है। चीफ जस्टिस ने कहा कि अगर बदला लेना न्याय है तो यह न्याय नहीं है. हालांकि CJI ने सीधा किसी घटना का जिक्र नहीं किया लेकिन उनके बयान को हैदराबाद एनकाउंटर (Hyderabad Encounter) से जोड़ कर देखा जा सकता है।

सीजेआई ने कहा, ‘देश में हाल की घटनाओं ने नए जोश के साथ पुरानी बहस छेड़ दी है। इसमें कोई शक नहीं है कि आपराधिक न्याय प्रणाली को अपनी स्थिति पर पुनर्विचार करना चाहिए और आपराधिक मामलों को निपटाने में ढिलाई के रवैये में बदलाव लाना चाहिए।

Advertisements