Katni : रेत के अवैध परिवहन में बरही का जिम्मेदार अमला मौन

Advertisements

देखो तो…कैसे अंधा, गूंगा बहरा बना प्रशासन
कटनी/ बरही। हाइवा.डंपर में क्षमता से दोगुना ओव्हरलोड रेतध्बालू का यह दृश्य बरही बस स्टैंड का है, जो दिन.रात बेख़ौफ़ होकर गुजर रहे है।
तांडव मचाते हुए गुजर रहे इन भारी वाहनों की धमाचौकड़ी देखकर लोग चर्चा कर रहे है कि देखो.देखो कैसा बरही व जिले का जिम्मेदार अमला अंधाए बहरा.गूँगा है, जिसे ये वाहन नही दिखाई पड़ रहे है। बरही बस स्टैंड में इस तरह के भारी वाहनों की आवाजाही से दिनभर खतरा मंडराया रहता है। चौराहे में जाम की स्थिति निर्मित रहती हैए इसी बीच ये वाहन कभी विजयराघवगढ़ रोडए कभी मैहर रोडए तो कभी कटनी रोड में मुड़ते वक्त लोगो के लिए मुसीबत बन जाते है।
कुछ पल के लिए राहगीत अपनी सांस थाम लेते है कि कही ओव्हरलोड ये वाहन पलट न जाए। रेत-बालू के इस अवैध परिवहन पर लगाम न होने के पीछे सूत्र बताते है कि जिन पर कार्यवाही करने की जबावदेही है वे रेत चोरो के संरक्षक व पार्टनर की भूमिका अदा कर रहे है। जिम्मेदारों को कार्यवाही न करने के लिए अवैध कमाई का हिस्सा पहुँचा दिया जाता हैए जिससे ये जिम्मेदार मौन धारण किए हुए है।
यहां, से लोड हो रही रेत, जाजागढ़ से लोड हो रही रेत
बरही थाना क्षेत्र के ग्राम जाजागढ़ स्थित पिपही नदी जो जंगल अंतर्गत आता हैए यहां से दिनरात ट्रेक्टरों के माध्यम से रेत एकत्रित कर भारी वाहनों में लोडकर मैहर.सतना क्षेत्र के लिए बिना टीपी के परिवहन किया जा रहा है। इसी तरह बरही थाना की सीमा से सटे अमरपुर चौकी क्षेत्र के ग्राम मुड़गुड़ी, सलैया, सुखदास से रेत का अवैध कारोबार चरम पर है। रेत के अवैध कारोबार के लिए खुली छूट दे दी गई है।

Advertisements