मौजूदा दशक इतिहास में सबसे गर्म होगा, सहमी दुनिया

Advertisements

मैड्रिड, एजेंसी । संयुक्‍त राष्‍ट्र की एक रिपोर्ट दुनिया को चौंकाने वाली हो सकती है। अगर हम नहीं चेते तो यह धरती रहने लायक नहीं होगी। रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि मौजूदा दशक इतिहास में सबसे गर्म होगा। विश्‍व मौसम संगठन ने कहा है कि अभी तक इस वर्ष वैश्विक तापमान पूर्व औद्योगिक औसत से 1.1 डिग्री सेल्सियस ऊपर है।

विश्‍व मीटरोलॉजिकल संगठन डब्लूएमओ ने कहा कि जीवाश्म ईंधन को जलाने, बुनियादी ढांचे के निर्माण, फसलों को उगाने और माल की ढुलाई जैसे कार्यों से होने वाले मनुष्य जनित उत्सर्जन के कारण 2019 वातावरणीय कार्बन सघनता का रिकॉर्ड तोड़ने जा रहा है। इसकी वजह से तापमान में और इजाफा होगा।

ग्रीनहाउस गैसों के चलते उत्पन्न ऊष्मा का 90 प्रतिशत अवशोषित करने वाले महासागरों का तापमान उच्चतम दर्ज स्तर पर है। दुनिया के समुद्र अब 150 साल पहले की तुलना में एक चौथाई अधिक अम्लीय हैं, जो महत्वपूर्ण समुद्री पारिस्थितिक तंत्रों को खतरे में डालते हैं, जिस पर अरबों लोग भोजन और नौकरियों के लिए भरोसा करते हैं।

Advertisements