ग्राम पंचायत वार्ड और सरपंच पद का आरक्षण 11 दिसंबर को

Advertisements

भोपाल। Madhya Pradesh Panchayat Election त्रिस्तरीय पंचायतराज संस्थाओं के परिसीमन के बाद अब चुनाव कराने के लिए आरक्षण की प्रक्रिया शुरू होगी। 11 दिसंबर से आरक्षण होना प्रारंभ हो जाएगा, जो राज्य स्तर पर 16 दिसंबर तक चलेगा। चार दिसंबर को पंचायत के वार्ड, सरपंच, जनपद निर्वाचन क्षेत्र व अध्यक्ष के साथ जिला पंचायत निर्वाचन क्षेत्र के आरक्षण की अधिसूचना जारी की जाएगी।

11 दिसंबर को पंचायत के वार्ड और सरपंच पद का आरक्षण होगा। 13 दिसंबर को जनपद व जिला पंचायत के निर्वाचन क्षेत्र के साथ जनपद अध्यक्ष पद का आरक्षण होगा। जिला पंचायत के अध्यक्ष पद का आरक्षण 16 दिसंबर को राज्य स्तर पर होगा। अधिकांश पंचायतराज संस्थाओं का कार्यकाल मार्च 2020 में समाप्त हो रहा है।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने कलेक्टरों को आदेश दिए हैं कि आरक्षण 2011 की जनसंख्या के आधार पर होगा। इस प्रक्रिया से जुड़ी सभी अधिसूचनाएं कलेक्टर के माध्यम से जारी होंगी। आरक्षण की प्रक्रिया पूरी करके आयुक्त पंचायतराज को प्रमाणिक जानकारी विशेष वाहक के जरिए उपलब्ध कराई जाएगी। गैर अनुसूचित क्षेत्र के सरपंच और जनपद पंचायत के अध्यक्ष पद के विभिन्न् वर्गों के लिए चक्रानुक्रम से लाट निकालकर पद आरक्षित किए जाएंगे।

पूरे अनुसूचित क्षेत्र के सभी सरपंच और जनपद पंचायत अध्यक्ष के पद अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित रहेंगे। पंचायत के वार्ड और जिला व जनपद पंचायत के निर्वाचन क्षेत्र अनुसूचित जाति-जनजाति की जनसंख्या के हिसाब से और अन्य पिछड़ा वर्ग व महिलाओं के लिए पद चक्रानुक्रम से लाट निकालकर आरक्षित किए जाएंगे। महिलाओं के लिए आधे पद वर्गवार चक्रानुक्रम (रोटेशन) आरक्षित होंगे।

Advertisements