Katni : 20 फीसद से कम रिजल्ट आने पर बर्खास्त होंगे शिक्षक व हेडमास्टर

कटनी। कक्षा 10वीं व 12वीं की तर्ज पर इस साल आयोजित होने वाली कक्षा 5वीं व 8वीं की बोर्ड परीक्षा को लेकर राज्य शिक्षा केंद्र ने कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। राज्य शिक्षा केंद्र संचालक ने जिला शिक्षा अधिकारी और जिला परियोजना समन्वयक को दो टूक निर्देश देते हुए कहा कि 5वीं व 8वीं की परीक्षा में अगर 90 प्रतिशत विद्यार्थी फेल होते हैं और उस स्कूल का परिणाम 20 प्रतिशत कम रहता है तो शिक्षक और स्कूल हेडमास्टर पर बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी। राज्य शिक्षा केंद्र के फरमान के बाद स्कूलों में हड़कंप मच गया है।
राज्य शिक्षा केंद्र संचालक आईरीन सिंथिया जेपी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में विभागीय अधिकारियों से दो टूक कहा है कि 5वीं व 8वीं की बोर्ड परीक्षा में गंभीरता से काम किया जाए। दोनों परीक्षाओं की तैयारियां मंडल की परीक्षाओं की तरह की जाएं। दोनों में स्कूल का परीक्षा परिणाम 20 प्रतिशत से कम आता है तो संबंधित स्कूल के हेडमास्टर और शिक्षक को नौकरी से बर्खास्त कर दिया जाएगा। संचालक ने जिला परियोजना समन्वयकों से कहा कि शिक्षकों को निर्देशित किया जाए कि वह अपनी जिम्मेदारी का निर्वाहन ठीक ढंग से करें, लापरवाही पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
गांव-गांव कराई जाए मुनादी
राज्य शिक्षा केंद्र ने निर्देश दिए हैं कि 5वीं व 8वीं बोर्ड परीक्षा है। इसकी जानकारी पालकों तक अनिवार्य रूप से पहुंचाई जाए। इसके लिए सरपंच के माध्यम से पूरे गांव में मुनादी कराई जाए। इस काम को दिसंबर के पहले सप्ताह तक पूरा कर लिया जाए। इसके अलावा दिसंबर में प्रतिभा पर्व आयोजित होगा। इसकी तैयारियां भी अभी से शुरू कर दी जाएं। प्रतिभा पर्व के परीक्षा परिणाम खराब आने वाले जिलों पर विभाग सख्त कार्रवाई करेगा।
कलेक्टर ने दिए विशेष कक्षाएं लगाने के आदेश
इधर कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने जिला शिक्षा अधिकारी और जिला परियोजना समन्वयक को पत्र भेजा है। इसमें कहा गया है कि 10वीं व 12वीं की तरह 5वीं व 8वीं के विद्यार्थियों के लिए अलग से अतिरिक्त कक्षाएं लगाई जाएं। कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने कहा कि 5वीं व 8वीं बोर्ड परीक्षाएं हैं। इनके विद्यार्थियों को भी कुछ विषयों में कठनाई होगी और कुछ बच्चे पढ़ाई में कमजोर होंगे। इसलिए प्राथमिक.माध्यमिक स्कूलों में सुबह 10 से 11 और शाम 4 से 5 बजे तक अतिरिक्त कक्षाओं का संचालन किया जाए।