वर्कआर्डर जारी हुए बिना कर दिया भूमिपूजन

Advertisements

कटनी। नगर निगम सीमा क्षेत्रान्तर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना के भवनों के टेंडर दिये जाने में गंभीर गड़बड़ियां व शासन कोष को लाखों रुपये की राशि का नुकसान पहुंचया जा रहा है। महापौर द्वारा गरीबों को मकान दिये जाने का झूठा आश्वासन देते हुए उनके साथ धोखाधड़ी की जा रही है। योजना का निर्माण कार्यादेश जारी न होने के बावजूद भी झूठी वाहवाही लूटने के लिए भूमिपूजन कर लिया गया है। यह आरोप नगर निगम कटनी के नेता प्रतिपक्ष मिथलेश जैन एडवोकेट द्वारा प्रेस को जारी एक विज्ञप्ति में लगाया गया है।

श्री जैन ने इस योजना में गड़बड़ियों की ओर ध्यानाकर्षण करते हुए उनके द्वारा महापौर एवं आयुक्त नगर निगम को एक पत्र भी आज भेजा गया है, जिसमें कहा गया है कि द्वितीय निविदा में ठेकेदार बीआरपी एसोयियेट्स द्वारा 3.9 प्रतिशत अधिक का टेंडर डाला गया लेकिन टेंडर शर्त अनुसार निविदादाता का सक्षम रजिस्ट्रेशन होना चाहिए लेकिन टेंडर डालने की तिथि तक और वर्तमान समय तक बीआरपी एसोसियेट्स का कोई पंजीयन नहीं हुआ है और न ही उसने कोई पंजीयन दस्तावेज प्रस्तुत किया है।

टेंडर शर्त अनुसार निविदादाता को स्वतः कार्य अनुभव होना चाहिए लेकिन बीआरपी एसोसियेट्स एक नई संस्था है, उसे स्वतः उक्त भारी भरकम कार्य करने का कोई अनुभव नहीं है, जो कि टेंडर शर्त का उल्लंघन है।

निविदादाता बीआरपी एसोसियेट्स के द्वारा इंकम टैक्स रिटर्न प्रस्तुत नहीं किया गया है तथा उसकी आर्थिक स्थिति संतोषजनक नहीं है। निविदादाता को दो बार एलएओ जारी करने पर भी उसके द्वारा समयावधि में न तो परफारमेंस गारंटी की राशि प्रस्तुत नहीं की गई और समय पर कोई अनुबंध भी नहीं कराया गया।

समयावधि बढ़ाये जाने हेतु सक्षम प्राधिकारी यानि कि मेयर इन कौंसिल द्वारा कोई स्वीकृति भी नहीं दी गई है। इस प्रकार टेंडर शर्त का उल्लघंन किया गया है। निविदा की शर्तों का सक्षम प्राधिकारी से कोई अनुमोदन नहीं हुआ है, जो कि नगर निगम अधिनियम की धारा 73 का उल्लघंन है। शासन नियम एवं टेंडर शर्त के अनुसार निविदादाता द्वारा ईपीएफ एकाउंट ही नहीं खोला गया है तथा इस संबंध में विभागीय अधिकारियों की आपत्तियों को दरकिनार किया जा रहा है। नियमानुसार प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से पर्यावरण क्लीयरेंस प्राप्त नहीं किया गया है।

Advertisements