Ayodhya Case Verdict Tomorrow: अयोध्या पर SC का फैसला कल आएगा, CJI ने ली UP की कानून-व्यवस्था पर रिपोर्ट

Advertisements

Ayodhya Case Verdict Tomorrow: अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट शनिवार को सुबह 10.30 बजे फैसला सुनाएगा। फैसले से पहले प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को बुलाकर राज्य और खासकर अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। अयोध्या मामले की सुनवाई करने वाली पांच सदस्यीय पीठ में शामिल सभी जजों की सुरक्षा बढ़ाई गई है।

यूपी में सभी स्कूल, कॉलेज 11 नवंबर तक बंद रहेंगे

उत्तर प्रदेश में 11 नवंबर तक सभी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का आदेश दिया गया है। अयोध्या में पहले ही धारा 144 लगा दी गई है।

सीजेआई ने यूपी के मुख्य सचिव और डीजीपी से कानून-व्यवस्था की ली जानकारी

सूत्रों ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी और डीजीपी ओपी सिंह के साथ मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की दोपहर में करीब डेढ़ घंटे बैठक चली। सुप्रीम कोर्ट में प्रधान न्यायाधीश के चैंबर में हुई इस बैठक में अयोध्या मामले की सुनवाई करने वाली पांच सदस्यीय पीठ में शामिल जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाई चद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. अब्दुल नजीर भी मौजूद थे। हालांकि मुलाकात का कोई औपचारिक ब्योरा नहीं दिया गया है, लेकिन माना जा रहा है कि प्रदेश के दोनों आला अधिकारियों ने प्रधान न्यायाधीश को प्रदेश में शांति और कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए किए गए उपायों की जानकारी दी होगी। प्रधान न्यायाधीश के साथ मुलाकात के लिए दोनों आला अधिकारी लखनऊ से चार्टर्ड प्लेन से आए थे और उसी से वापस भी लौटे।

प्रधान न्यायाधीश जस्टिर रंजन गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत्त होंगे

प्रधान न्यायाधीश जस्टिर रंजन गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। ऐसे में यह संभावना जताई जा रही थी कि शीर्ष अदालत अयोध्या मामले में कभी भी फैसला सुना सकती है। शुक्रवार को जब प्रधान न्यायाधीश ने उत्तर प्रदेश के आला अधिकारियों के साथ बैठक की, तभी कयास लगाए जाने लगे थे कि फैसला कभी भी आ सकता है। हालांकि, उम्मीद जताई जा रही थी कि फैसला 13 नवंबर के बाद आएगा, क्योंकि अयोध्या में कार्तिक उत्सव और स्नान चल रहा है, जिसके चलते वहां श्रद्धालुओं की भीड़ लगी है। अयोध्या मामले में फैसले को ध्यान में रखते हुए केंद्र के साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले से ही सुरक्षा को लेकर ऐहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए थे।

अयोध्या में 10 दिसंबर तक धारा 144 लागू, संवेदनशील स्थलों की बढ़ी सुरक्षा

अयोध्या में 10 दिसंबर तक के लिए धारा 144 लगा दी गई है। इसके अलावा मथुरा और काशी समेत प्रदेश के सभी संवेदनशील स्थलों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। संवेदनशील स्थलों की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त जवानों को लगाया गया है।केंद्र सरकार की तरफ से सभी राज्यों को सुरक्षा को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है। फैसले को देखते हुए सभी से अत्यधिक सतर्क रहने को कहा गया है। संवेदनशील स्थलों की सुरक्षा बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं।

40 दिन की मैराथन सुनवाई के बाद 16 अक्टूबर से फैसला सुरक्षित है

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय संवैधानिक बेंच ने अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में 40 दिन की मैराथन सुनवाई करने के बाद गत 16 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 30 सितंबर 2010 को दिये गए फैसले में राम जन्मभूमि को तीन बराबर हिस्सों में बांटने का आदेश दिया था जिसके खिलाफ सभी पक्षों ने कुल 14 अपीलें सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की थीं।

Advertisements