कल भी सरकार नहीं बनी तो क्या महाराष्ट्र में लग जाएगा राष्ट्रपति शासन?

Advertisements

मुंबई। महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन पर अब तक तस्वीर साफ नहीं हो सकी है। भाजपा और शिवसेना के बीच खींचतान काफी लंबी खिंच चुकी है। शिवसेना के तेवर लगातार कड़े बने हुए हैं। इस बीच भाजपा भी किसी भी मुद्दे पर झुकने के मूड में नजर नहीं आ रही है। एनसीपी द्वारा सरकार बनाने में दिलचस्पी ना दिखाते हुए विपक्ष में बैठने का निर्णय लेने के बाद सूबे का सियासी संकट और गहरा गया है। अब सिर्फ भाजपा और शिवसेना गठबंधन के जरिये ही नई सरकार के गठन का रास्ता साफ हो सकता है। लेकिन दोनों ही दलों में से अब तक किसी भी तरह के समझौते के संकेत नहीं मिले हैं। विधानसभा चुनाव पूर्व हुए गठबंधन के फॉर्मूले को लेकर जहां शिवसेना अड़ी हुई है। वहीं भाजपा इसे मानने को तैयार नहीं है।

जानें महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन से जुड़े ताजा अपडेट्स

– महाराष्ट्र विधानसभा का मौजूदा सत्र 8 नंवबर को पूरा हो रहा है। यानी इस दिन तक नई सरकार नहीं बनी तो कहा जा रहा है कि राष्ट्रपति शासन लगा दिया जाएगा।

– शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि यदि बीजेपी के पास संख्‍या बल है तो सरकार बनाएं। यदि संख्या नहीं है तो इसे स्वीकार करें। संविधान इस देश के लोगों के लिए है, यह भाजपा की निजी संपत्ति नहीं है। हम संविधान को अच्छी तरह से जानते हैं। हम महाराष्ट्र में शिवसेना के सीएम का गठन संवैधानिक रूप से करेंगे।

– महाराष्ट्र में सियासी अस्थिरता के बीच भाजपा नेता राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने राजभवन पहुंचे डेलीगेशन में महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल भी मौजूद थे

– मातो श्री में जारी शिवसेना के विधायकों की बैठक खत्म हो चुकी है। बैठक से निकले विधायकों ने कहा कि जो उद्धव ठाकरे कहेंगे सभी विधायक उसे मानेंगे। फिलहाल सभी विधायकों को होटल में ले जाया जा रहा है। माना जा रहा है कि विधायकों को होटल भेजे जाने की वजह किसी भी तरह की टूट से बचना है।

– महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कवायद में अहम भूमिका निभा रहे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का बयान आया है। उन्होंने कहा कि सूबे में भाजपा की सरकार की ही बनेगी और देवेंद्र फडणवीस ही मुख्यमंत्री रहेंगे। शिवसेना से सरकार बनाने को लेकर बात चल रही है।

– शिवसेना विधायकों के साथ उद्धव ठाकरे फिलहाल मातो श्री में बैठक कर रहे हैं। इसमें पार्टी के अगले कदम को लेकर भी चर्चा होने की संभावना है।

– महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान के बीच आज दोपहर को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करने भाजपा नेता पहुंचेंगे। हालांकि इस दौरान भाजपा सरकार बनाने का प्रस्ताव रखेगी या नहीं इसे लेकर तस्वीर पूरी तरह से साफ नहीं हुई है।

बता दें कि 24 अक्टूबर को आए विधानसभा चुनाव के नतीजों में भाजपा-शिवसेना गठबंधन को पूर्ण बहुमत हासिल हुआ है। भाजपा को जहां 105 सीटें वहीं शिवसेना को 56 सीटें मिली हैं। ऐसे में राज्य में सरकार आसानी से बनाई जा सकती है। लेकिन दोनों ही दलों के बीच सीएम की कुर्सी को लेकर खींचतान मची हुई है। शिवसेना राज्य में अपना सीएम होने की बात पर अड़ी हुई है। वह चुनाव पूर्व हुए समझौते का हवाला देती आ रही है। वहीं भाजपा इसे मानने को तैयार नहीं हो रही है।

Advertisements