Katni: सुलझने की बजाय उलझती जा रही किराना व्यापारी की चोरी

किराना व्यापारी का कहना कि बरामद रकम चोरी गई रकम से अलग, जेवर भी दूसरे
कटनी। स्लीमनाबाद के किराना व्यापारी के यहां हुई चोरी की गुत्थी सुलझने की बजाय और उलझती जा रही है। जिस अलमारी से 3 लाख 80 हजार रुपए और दस तोला सोने के आभूषण सहित एक से डेढ़ किलो चांदी के आभूषण चोरी होने की शिकायत दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने उसी अलमारी के दूसरे लॉकर से तलाशी के दौरान 2 लाख 92 हजार रुपए नगद सहित दस से 12 तोले के सोने आभूषण जप्त किए हैं। पुलिस इसे वही रुपए और आभूषण मानकर चल रही है। जिनके संबंध में चोरी की शिकायत दर्ज कराई गई थी। उधर किराना व्यापारी का कहना है कि जिस लॉकर से रुपए और आभूषण चोरी हुए थे उस लॉकर में रुपए नहीं मिले हैं जबकि दूसरे लॉकर में रखे रुपयों और आभूषण को पुलिस द्वारा जप्त किया गया है। गौरतलब है कि स्लीमनाबाद निवासी किराना व्यापारी कैलाश असाटी के घर के सभी सदस्य 8 अक्टूबर की रात दशहरा देखने के लिए गए थे। इसी दौरान अज्ञात चोरों ने कैलाश असाटी के घर पर धावा बोला और अंदर घर की अलमारी में रखे लगभग 3 लाख 80 हजार रुपए , 15 तोला सोने के आभूषण और करीब एक से डेढ़ किलो चांदी के आभूषण पार कर दिए हैं। चोरी की सूचना रात करीब 12 बजे पुलिस थाने में दी गई। जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की।

दूसरे लाकर में मिली नगदी व जेवर
जिस रात चोरी की वारदात की सूचना दी गई थी उसी रात पुलिस वहां पर पहुंची थी लेकिन रात अधिक होने के कारण उस कमरे को बंद करा दिया गया था जिस कमरे की अलमारी से रुपए और आभूषण चोरी किए गए थे। दूसरे दिन मौके पर एसडीओपी पी.के.सारस्वत, टीआई सी.के.तिवारी सहित खोजी कुत्ता, फिंगर प्रिंट की टीम वहां पर पहुंची। कमरे को खोलकर अलमारी की जांच की गई। इसी दौरान अलमारी के लॉकर से 2 लाख 92 हजार रुपए नगद, सोने और चांदी के आभूषण मिले हैं। जिस पर पुलिस ने रुपए और आभूषणों की जप्ती बना ली है। वहीं किराना व्यवसायी की मानें तो उसका कहना है कि अलमारी में दो लॉकर थे एक लॉकर से 3 लाख 80 हजार रुपए और दस तोल सोना और एक से डेढ़ किलो चांदी थी। जिसे अज्ञात चोरों ने पार कर दिया है जबकि दूसरे लॉकर से चोरों ने चोरी नहीं की है। दूसरे लॉकर में 2 लाख 92 हजार रुपए और दस से 12 तोला सोना और एक किलो चांदी मिली है। पुलिस ने जप्त कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने किराना दुकान व्यवसायी के कर्मचारियों से पूछताछ की है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

दोनों लाकर का माल क्यों नहीं ले गए चोर
इस मामले में अज्ञात चोरों के खिलाफ एफआईआर तो दर्ज कर ली गई है लेकिन अलमारी में ही रुपए और आभूषण मिलने के बाद मामला संदिग्ध भी हो गया है। पुलिस का मानना है कि जप्त किए गए रुपए और आभूषण वहीं है जिनके संबंध में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। जबकि किराना व्यवसायी इन रुपयों और आभूषणों को चोरी गए रुपयों और आभूषणों से अलग बता रहा है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि चोरों ने अलमारी से पूरे आभूषण और रुपए क्यों चोरी नहीं किए हैं। मामले की जांच के बाद ही इस मामले का खुलासा हो सकेगा।