CM कमलनाथ ने PM मोदी से मांगा 9 हजार करोड़ का राहत पैकेज

Advertisements

भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नई दिल्ली में मुलाकात करअतिवर्षा और बाढ़ से हुए नुकसान के लिए नौ हजार करोड़ रुपए का राहत पैकेज देने की मांग की। करीब 45 मिनट चली मुलाकात में उन्होंने बाढ़ और अतिवर्षा से हुए नुकसान का ब्यौरा देते हुए मांग पत्र सौंपा।

इसमें बताया गया कि करीब 60 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में 16,700 करोड़ रुपए मूल्य की खरीफ फसलों को नुकसान हुआ है। 11 सौ किलोमीटर सड़क, 17 सौ पुल व पुलिया क्षतिग्रस्त हुए हैं तो 674 लोगों की मृत्यु हो गई। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री को मदद का भरोसा दिलाया है।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को मांग पत्र देते हुए आग्रह किया किया कि एक बार फिर से केंद्रीय अध्ययन दल भेजें ताकि क्षति का वास्तविक आकलन हो सके। प्रदेश में वर्षा से जो तबाही हुई है उसे गंभीर आपदा की श्रेणी में रखा जाए। राष्ट्रीय विकास आपदा कोष एवं अधोसंरचना पुनर्निर्माण के लिए लगभग नौ हजार करोड़ रुपए की मदद तत्काल मुहैया कराई जाए ताकि किसानों और आम लोगों को हुए नुकसान की भरपाई की जा सके।

खरीफ फसलें अतिवर्षा और बाढ़ से बड़े पैमाने पर प्रभावित हुई हैं। 54 लाख हेक्टेयर में 33 फीसदी से ज्यादा फसलों को नुकसान पहुंचा है। कई जगह तो फसलें पूरी तरह नष्ट हो चुकी हैं। फसलों को जो क्षति पहुंची है उससे पूरा देश प्रभावित होगा क्योंकि मध्यप्रदेश में उत्पादित फसलें पूरे देश की जरूरत पूरी करती हैं।

फसलों के अलावा अधोसंरचनाओं को भी बड़ा नुकसान हुआ है। लगभग एक लाख मकान प्रभावित हुए हैं। 242 गांवों को पूरी तरह या आंशिक तौर पर खाली कराना पड़ा था। 11 सौ किलोमीटर सड़क पूरी तरह नष्ट हुई है तो 17 सौ पुल-पुलिया क्षतिग्रस्त हैं। अधोसंरचना पुनर्निर्माण में बड़ी राशि की दरकार है। मुख्यमंत्री ने इस काम के लिए दो हजार 286 करोड़ रुपए की सहायता तत्काल देने की मांग रखी, जिससे काम को तेज गति के साथ शुरू किया जा सके।

Advertisements