तो भूखे भाई-बहनों के लिए बच्ची ने मंदिर से चुराए थे रूपए

Advertisements

भोपाल/सागर। अपने छोटे भाई-बहन की भूख शांत करने के लिए मंदिर से 250 रुपए चोरी करने वाली लड़की की मदद के लिए मध्य प्रदेश सरकार आगे आई है। मुख्यमंत्री कमलनाथ को जैसे ही इस बच्ची के मंदिर से चोरी करने के बारे में पता चला तो उन्होंने तत्काल प्रशासन को निर्देश दिए कि वो बच्ची को आर्थिक मदद के साथ ही सरकार की सामाजिक कल्याण योजनाओं का लाभ दिलाए। इस संबंध में कमलनाथ ने ट्वीट भी किया, “जिसमें उन्होंने लिखा कि कई बार जीवन-यापन के लिए अभाव में मासूम गलत राह पकड़ लेते हैं। सागर ज़िले के रहली गांव के मज़दूर परिवार को एक लाख की आर्थिक सहायता देने के साथ ही परिवार को सरकारी योजनाओं का लाभ देने, बच्चों की पढ़ाई के माकूल इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।”

भाई-बहन भूख से बिलख रहे थे इसलिए दानपेटी से पैसे चुराए

घटना 21 सितंबर की है, रहली क्षेत्र में टिकीटोरिया पहाड़ी पर देवी जी का मंदिर है। दोपहर 12 से 2 बजे के बीच मंदिर परिसर में रखी दानपेटी का ताला तोड़कर करीब 250 रुपए चोरी हो गए थे। मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में बच्ची दानपेटी से चोरी करते दिखाई दे रही थी।

रहली थाना प्रभारी रामअवतार चौरहा ने बताया 22 सितंबर को मंदिर कमेटी के प्रबंधक सुशील शर्मा ने सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देकर चोरी का मामला दर्ज कराया था। अज्ञात बच्ची के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज किया गया था। जांच के बाद पुलिस ने पंडलपुर निवासी एक 12 साल की बच्ची को पुलिस अभिरक्षा में लिया। 28 सितंबर को रहली पुलिस ने उसे किशोर न्यायालय सागर में पेश किया। कोर्ट ने बच्ची को बाल सुधार गृह शहडोल भेजने का आदेश दिया था। 30 सितंबर को कलेक्टर ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए चर्चा की। जिसके बाद कोर्ट ने उसकी रिहाई के आदेश जारी कर दिए।

चक्की से गायब हो गया था गेहूं

बच्ची की मां की मौत हो चुकी है। बच्ची अपने छोटे भाई और छोटी बहन के साथ पिता के पास ही रहती है। गेहूं पिसाने से लेकर घर के अन्य छोटे-मोटे काम यही बच्ची करती है। पिछले दिनों बच्चों को पिता ने गेहूं पिसाने के लिए चक्की पर भेजा था, लेकिन दोबारा जब आटा लेने पहुंची तो वहां उसका गेहूं गायब हो गया था। बच्ची इस बात से डर गई कि खाली हाथ घर लौटेगी तो पिता डांटेंगे, इसी बात से डरकर वह पैसे का जुगाड़ करने मंदिर पहुंची थी और दानपेटी से 250 रुपए चुरा लिए थे। उसमें से 180 रुपए में उसने आटा खरीदा और बाकी बचे 70 रुपए स्कूल बैग में रख लिए थे। लेकिन ये पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई और फिर उसे पुलिस ने पकड़कर बाल सुधार गृह भेज दिया था।

Advertisements