प्रदेश में दो मानसूनी सिस्टम सक्रिय, रुक रुक कर होगी बारिश

Advertisements

भोपाल। मध्य प्रदेश में बारिश ने इस वर्ष कीर्तिमान रचा है। रविवार सुबह 8:30 बजे तक प्रदेश में 1341.7 मिमी बारिश हो चुकी है, जो सामान्य (938.5 मिमी) से 43 फीसदी अधिक है। इसके पूर्व वर्ष 2013 में पूरे सीजन में प्रदेश में 1305 मिमी बारिश हुई थी, जो सामान्य से 37 प्रतिशत अधिक थी। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, अभी तक उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक इस वर्ष अभी तक सर्वाधिक वर्षा हुई है। वर्तमान में दो मानसूनी सिस्टम सक्रिय हैं। इससे प्रदेश के कई स्थानों पर रुक-रुककर बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।

मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता के मुताबिक, रविवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक मलाजखंड में 26, होशंगाबाद और गुना में 9, रीवा में 8, पचमढ़ी में 7, इंदौर और सतना में 6, मंडला में 4, खजुराहो में 3.7, रतलाम और श्योपुरकलां में 3, शाजापुर और उमरिया में 2, नौगांव और सागर में 1, जबलपुर में 0.6, भोपाल में 0.4 मिमी बारिश हुई। मौसम विज्ञानी पीके साहा के मुताबिक, वर्तमान में कच्छ और सौराष्ट्र पर कम दबाव का एक क्षेत्र बना है।

इसके और गहरा होकर अबदाब में तब्दील होने की संभावना है। इसके अतिरिक्त दक्षिण-पूर्वी उप्र और उससे लगे उत्तरी मप्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इन दो सिस्टम के कारण पूरे प्रदेश में बारिश का सिलसिला जारी है। रुक-रुककर बौछारें पड़ने का सिलसिला अक्टूबर के पहले सप्ताह में भी जारी रहने की संभावना है।

Advertisements