KATNI-पीरबाबा में ट्रक चालक की नृशंस हत्या

कटनी। माधवनगर थाना अंतर्गत पीरबाबा के समीप सड़क किनारे खड़े ट्रक से 35 वर्षीय चालक की ट्रक की केबिन में रक्तरंजित लाश मिलने से सनसनी फैल गई। चालक के सिर में गंभीर चोट के निशान हैं। जिससे यह प्रतीत होता है कि चालक की नृशंस हत्या सोते समय सिर में प्रहार करके की गई है। सूचना मिलते ही नगर पुलिस अधीक्षक एम.पी.प्रजापति, माधवनगर थाना प्रभारी संजय दुबे, उपनिरीक्षक सी.के.तिवारी व एम.एल.करण पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए और मौका मुआयना करने के बाद लाश को अपने अधिकार में लेकर परीक्षण के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया।

मामले में मर्ग कायम कर जांच प्रारंभ कर दी गई है। इस संबंध में माधवनगर थाना प्रभारी संजय दुबे ने बताया कि आज सुबह पीरबाबा क्षेत्र के रहवासियों ने सूचना दी कि क्षेत्र स्थित राम ढाबा के पास ट्रक क्रमांक डब्लू बी 37 डी-1587 संदिग्ध अवस्था में खड़ा है तथा उसके चालक व क्लीनर भी काफी देर से नजर नहीं आ रहे हैं। जिसके बाद सूचना की तस्दीक के लिए डायल 100 वाहन को भेजा गया। डायल 100 वाहन के पुलिसकर्मियों ने ट्रक की केबिन को चैक किया तो उसके अंदर ट्रक के चालक उत्तर प्रदेश प्रयागराज(इलाहाबाद) के मांडा थाना अंतर्गत ग्राम मेजा निवासी 35 वर्षीय रामबाबू पिता खूबनारायण यादव की रक्तरंजित लाश पड़ी थी।

केबिन के अंदर चालक की रक्तरंजित लाश देखकर डायल 100 पुलिस कर्मियों ने इसकी सूचना वायरलैस सेट के माध्यम से वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को दी। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संदीप मिश्रा से आवश्यक दिशा निर्देश लेकर सीएसपी व थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस अधिकारियों ने मौका मुआयना किया और मामला प्रथम द्रष्टया ही हत्या का लगने पर लाश को अपने अधिकार में लेकर उसे परीक्षण के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया। माधवनगर थाना प्रभारी संजय दुबे के मुताबिक मामले में अज्ञात आरोपी के विरूद्ध हत्या का मामला धारा 302 के तहत कायम कर गंभीरता से विवेचना प्रारंभ कर दी गई है तथा जांच को आगें बढ़ाने अब पुलिस को मृतक रामबाबू की पीएम रिपोर्ट मिलने का इंतजार है।
लापता क्लीनर पर हत्या का संदेह
माधवनगर थाना प्रभारी संजय दुबे के मुताबिक मृतक 35 वर्षीय रामबाबू पिता खूबनारायण यादव पेशे से चालक है तथा वह प्रयागराज(इलाहाबाद) निवासी अमरजीत पिता पंचू यादव का ट्रक क्रमांक डब्लू बी 37 डी-1587 चलाता था। उसके साथ ट्रक में क्लीनर का काम दीपक नामक युवक करता था, जो मौके पर नहीं मिला। जिसके कारण पुलिस को चालक की हत्या का संदेह लापता क्लीनर पर ही जा रहा है। समझा जाता है कि किसी बात को लेकर विवाद के बाद क्लीनर दीपक ने चालक रामबाबू के सिर पर वार करके उसकी नृशंस हत्या कर दी और फरार हो गया। बहरहाल अब इस मामले में पुलिस को लापता क्लीनर दीपक की भी तलाश है। जिसके मिलने के बाद चालक की नृशंस हत्या से पर्दा उठ सकता है।