KATNI BREAKING: RPF एनकेजे ने किया सिंगरौली रेलखंड की 7 चोरियों का पर्दाफाश

Advertisements

सात आरोपी गिरफ्तार,
5 फरार,वारदात को अंजाम देने का सामान बरामद
भारी मात्रा में चोरी की गई केबिल व अन्य सामान भी जप्त

कटनी। (विवेक शुक्ला)। एनकेजे आरपीएफ को कटनी-सिंगरौली रेलखंड में केबिल व इंजन से पार्ट चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने में सफलता मिली है। इस मामले चोर गिरोह के सात सदस्यों सहित सीधी के एक बर्तन व्यापारी को भी गिरफ्तार किया गया है, जो गिरोह के सदस्यों से चोरी का माल खरीदकर उसे गलाने का काम करता था।

इस संबंध में एनकेजे आरपीएफ चेकपोस्ट प्रभारी उपनिरीक्षक सुनीता जाट ने बताया कि कटनी-सिंगरौली रेलखंड भौंगोलिक दृष्टि से पहाड़ी एवं जंगली क्षेत्र होने तथा वन्य प्राणियों से अत्यधिक खतरे की संभावना का फायदा उठाते हुए अपराधियो के हौसले बुलंद थे। रेलखंड के ब्यौहारी, खन्ना बंजारी, छतेनी और जोबा रेलवे स्टेशन में स्टेबल किये किये इंजन से क्रमश: 16 अगस्त 2018, 28 सितंबर 2018, 27 दिसंबर 2018 व 5 जनवरी 2019 को  रेक्टिफायर पैनल से अल्टरनेटर के सभी कीमती कॉपर केबल चोरी होने की शिकायत रेल अधिकारियों के द्धारा की गई थी।

रेल अधिकारियों की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 03 आरपी(यूपी) एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पतासाजी शुरू की गई थी।  इसी प्रकार 17 मई 19 को ब्यौहारी-दुबरीकलां के मध्य अज्ञात आरोपियों के द्वारा ओएचई केबल में आपराधिक हस्तक्षेप कर परिचालन के कर्मचारियो की सुरक्षा को खतरा व यातायात में बाधा उत्पन्न  की गई थी। इस मामले में भी अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 153, 174 रेल अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। इसके अलावा हाल ही में 16 सितंबर 19 को जोबा-दुबरीकलां के मध्य ओएचई केबल चोरी होने की शिकायत पर भी अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 3 आरपी(यूपी) एक्ट के तहत  मामला पंजीकृत किया गया था।

इन सभी मामलों का पर्दाफाश करने के लिए आरपीएफ के एएससी संतोष लाल हंसदा के निर्देशन में एक विशेष टीम का गठन किया गया था। जिसमें आरपीएफ  एनकेजे चेकपोस्ट प्रभारी उपनिरीक्षक सुनीता जाट, उपनिरीक्षक आर पी गर्ग, आरक्षक अजीत सरोज, आरक्षक राजेष चंद, आरक्षक विनोद कुमार यादव, आरक्षक के के बैठा, आरक्षक ललित कुमार विश्वकर्मा, आरक्षक जी पी साहू व अपराध खुफिया शाखा जबलपुर के सउनि मोहन लाल द्विवेदी व स्टाफ के अन्य सदस्य शामिल थे।

इस तरह मिली सफलता
आरपीएफ एनकेजे उपनिरीक्षक सुनीता जाट ने बताया कि कटनी-सिंगरौली रेलखंड पर बढ़ती चोरी की वारदातों का पर्दाफाश करने गठित टीम केे आरक्षक के के बैठा व आरक्षक ललित कुमार विश्वकर्मा को गुप्त निगरानी के दौरान 18 सितंबर 19 की रात्रि में रेललाइन के आसपास कुछ सदिंग्ध व्यक्तियो की हलचल होने का आभास हुआ। जिसके बाद दोनों आरक्षकों की सूचना पर विशेष टीम के बाकी सदस्य भी मौके पर पहुंच गए और मौके की घेराबंदी करके 12 में से 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया जबकि 5 लोग अंधेरे व जंगली क्षेत्र होने का फायदा उठाकर भागने में सफल हो गए। उपनिरीक्षक सुश्री जाट ने बताया कि घेराबंदी के दौरान दो लोग खंभे पर चढ़कर केबिल काटने का प्रयास कर रहे थे जबकि शेष सदस्य निगरानी कर रहे थे।

इनकी हुई गिरफ्तारी

उपनिरीक्षक सुश्री जाट ने बताया कि रेलवे की केबिल चोरी करते जिन 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उसमें सुनील यादव, राजकरण सिंह गौण, राज कुमार सिंह गौंण, कमलेश यादव, प्रयाग यादव, पवन यादव व राम खिलावन यादव शामिल हैं। आरोपियों के पास से ओएचई वायर काटने के लिए उपयोग में लिये गये 03 हैगजा ब्लेड, टंगारी एवं अपराध में उपयोग की जा रही तीन मोटर साईकिलोंं मौके से ही जप्त किया गया था। इसके अलावा आरोपियों की निशानदेही पर 38 कि0ग्रा0 केटनरी वायर जिसकी लम्बाई करीबन 65 मीटर जप्त किया गया। पकड़े गए आरोपियों ने 05 माह पूर्व मे भी झापर नदी के पास से ब्यौहारी-छतैनी के मध्य चोरी की नियत से केबल कट करना स्वीकार किया। आरोपी कमलेश यादव, प्रयाग यादव, पवन यादव राम खिलावन के साथ मिलकर रेलवे इंजन से तांबे की तार चोरी करना स्वीकार किया गया है।

सीधी का बर्तन व्यापारी भी गिरफ्तार
एक जानकारी में सुश्री सुनीता जाट ने यह भी बताया कि चोर गिरोह के सभी सदस्य चोरी किये गये केटनरी वायर व इंजन वायर को सीधी स्थित संतोष स्टील बर्तन की दुकान में ले जाकर बेंचते थे। जिसके बाद विशेष टीम ने आरोपियों के साथ सीधी जाकर संतोष स्टील बर्तन भंडार में भी छापा मारा और दुकान से करीबन 120 कि0ग्रा0 इंजन की कॉपर केबल व 10 कि0ग्रा0 केटनरी वायर जप्त किया गया। मामले में कुल 168 कि0ग्रा0 कॉपर वायर जप्त की गई है। जिसकी कीमत 50800 रुपए बताई जा रही है।

फरार आरोपियों की तलाश जारी
गिरफ्तार किए गए सातो आरोपियो ने उपरोक्त 6 मामलो के अलावा भी कॉपर वायर चोरी करना स्वीकार किया। जिसमें से 3 मामलें थाना मझौली में धारा 379 के तहत दर्ज हैं। जिसकी सूचना पुलिस थाना मझौली को भी दी गई है। मामले में फरार 5 आरोपियो की तलाश जारी है। उपरोक्त सभी 08 आरोपियो को रेलवे न्यायालय में  पेश किया जा रहा है।

Advertisements