भोपाल के हाईप्रोफाइल हनी ट्रेप मामले में कटनी की युवती भी शामिल, जानिए कैसे करतीं थीं ब्‍लैकमेल

Advertisements

भोपाल। राजधानी में हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप की आशंका के चलते पांच युवतियों सहित सात लोगों को हिरासत में लिये जाने के बाद से कई राजनेताओं एवं अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। एटीएस इंदौर के इनपुट पर भोपाल में कई स्थानों पर बुधवार देर रात छापेमारी कर अलग-अलग स्थानों से तीन युवतियों व एक युवक को जबकि इंदौर से दो युवतियों आर एक युवक को गिरफतार किया गया है। इन में एक युवती एक राजनैतिक दल की आईटी सेल की पदाधिकारी युवती भी शामिल है।

पुलिस ने जिन महिलाओं को पकड़ा है, उनमें एक मूल रूप से छतरपुर और दूसरी कटनी की रहने वाली है। दोनों ने भोपाल में अपना ठिकाना बनाया था और इस गिरोह के जरिए अफसरों को टारगेट करती थीं। उनका कहना है कि अफसरों के पास मोटी रकम होती है। वे एनजीओ को काम दिलाने में भी समक्ष होते है।

इन युवतियों के मोबाइल फोन और ठिकानों से कई अश£ील क्लीपिंग भी बरामद हुई है। जिनको हिरासत में लिया गया हैं, उनसे एटीएस एवं आईबी के अधिकारी पूछताछ कर रही हैं। बताते हैं कि इन युवतियों के मोबाइल से दो मंत्रियों और तीन बड़े अफसरों की पोर्न फिल्में मिली हैं। जिन युवतियों को हिरासत में लिया गया हैं, उनमें से एक युवती वही बताई जा रही है, जिसका वीडियो एक आईएएस अधिकारी के साथ वायरल हुआ था। सूत्रों के अनुसार कुछ अफसरों और नेताओं को हनीट्रैप होने का शक हैं। जिन युवतियों को हिरासत में लिया गया हैं, उनका राजनीतिक गलियारों में रसूख बताया जा रहा हैं। गिरफ्तार युवती ने पूछताछ में कई अहम् और सनसनीखेज खुलासे किए हैं। उसने अपने गिरोह की चार महिलाओं के नाम बताए हैं। चारों महिलाएं भोपाल में रहती हैं। सूत्रों के अनुसार गिरोह की मुख्य सरगना रेविएरा टाउन में किराए से रहती है। जिस मकान में रहती है, वह भाजपा के एक पूर्व मंत्री का है। पुलिस ने संदेह के आधार पर उसके पति को भी हिरासत में लिया है। पति- पत्नी खुद को एनजीओ संचालक बताते हैं। एक युवती को (बदला नाम)मीनाल, एक चूना भट्टी और तीसरी को गोविंदपुरा क्षेत्र से हिरासत में लिया गया है। महिलाओं से पुलिस ने मोबाइल सहित कई सामग्री बरामद की है। मोबाइल की जांच कराई जा रही है। आईबी, एसबी, एटीएस, सीबीआई जैसी खुफिया एजेंसियों के पुलिस कर्मियों सहित पीएचक्यू के अफसरोंं ने घेराबंद कर इन्हें दबोचा है।

इंजीनियर पर डाल रही थीं 2 करोड़ की अड़ी
इधर नगर निगम इंदौर के एक इंजीनियर पर दो करोड़ रुपए की अड़ी डालने वाले गिरोह की चार महिलाओं को भोपाल पुलिस ने हिरासत में लिया है। यह पूरी कहानी इंदौर के पलासिया थाने से जुड़ी है। पलासिया थाना पुलिस ने इंदौर नगर निगम के एक इंजीनियर की शिकायत पर धोखाधड़ी और ब्लैकमेल करने का मुकदमा दर्ज किया है। ब्लैकमेल करने वाले गिरोह में वह युवती भी है, जिसने एक अपर मुख्य सचिव स्तर के अधिकारी का वीडियो बनाया था। इंदौर पुलिस ने इस मामले में भोपाल से एक युवती को गिरतार किया था। उसने इंजीनियर पर दो करोड़ रुपए की अड़ी डाली थी। नहीं देने पर वीडियो उजागर करने की धमकी दी थी।

मंत्रालय में घूमती रहती थी युवती
जिन महिलाओं को पुलिस ने पकड़ा है, उनमें एक युवती मंत्रालय के गलियारों में अक्सर चक्कर लगाते हुए देखी जाती थी। बताते हैं कि एक आईएएस अफसर की सीडी सामने आने के बाद उसके घूमने पर प्रतिबंध लगाया दिया गया था। सूत्रों की मानें तो महिलाएं मंत्रालय में कई अफसरों और दिग्गज नेताओं के मुंह लगी थी।

वरिष्ठ अधिकारी ने कराई थी रिपोर्ट
बताते हैं कि प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारी ने गिरफ्तार एक युवती से परेशान होकर उसके खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। लेकिन तब यह मामला युवतियों की पहुंच के चलते दावा दिया गया था। यह युवती सालों से उक्त अधिकारी को परेशान कर रही थी।

बताते हैं कि युवतियों ने पहले कुछ वीडियो धोखे में रखकर मोबाइल से बनाए थे। बाद में चश्मे में लगने वाले कैमरे का भी उपयोग किया है। युवतियों ने बताया कि उनका ज्यादातर फोकस मालदार अधिकारी और रसूखदार नेताओं पर होता था। इनमें इंजीनियर से लेकर आईएएस अफसर तक शामिल थे। मौजूदा एक मंत्री के निज सहायक की पोर्न फिल्म भी उनके मोबाइल पर मिली है। उन्होंने पूछताछ में प्रदेश सरकार के कुछ पूर्व मंत्रियों और आईएएस अफसरों के नाम भी बताए हैं। उसके बाद से जांच करने वाले अफसरों में हड़कंप मच गया है।
युवतियों से कई बड़े खुलासे होने के आसार
पकड़ी गई युवतियां रसूखदार चेहरों पर दांव लगाती थीं और उन्हें प्रेमजाल में फंसाकर वीडियो और पोर्न फिल्में बना लेती थीं। बताते हैं कि उनके मोबाइल में दो मंत्रियों समेत कई रसूखदार चेहरों की पोर्न फिल्में मिली हैं। इनमें कई आला अधिकारी भी शामिल बताए जा रहे हैं। पुलिस ने ढंग से जांच और खुलासे किए, तो कई रसूखदार चेहरों से नकाब उतरना तय है।

भाजपा शासन काल में किया था तीन मंत्रियों को ब्लेक मैल
पुलिस ने जिन युवतियों को हनी ट्रैप की आशंका में दबोचा है, बताते हैं कि उनमें से एक युवती भाजपा शासनकाल में तीन मंत्रियों को कई सालों तक ब्लेकमैल करती रही है। यह युवती एनजीओ को काम दिलाने के बहाने अपनी पहुंच बनाती थी और फिर उनसे संपर्क बनाकर उन्हें ब्लैक मेल करती रही है।

गृह मंत्री बोले कार्रवाई होगी
इस मामले में गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा कि पुलिस हिरासत में लेकर सभी से पूछताछ कर रही है। जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। हम बिना किसी दबाव के कार्रवाई करेंगे।

Advertisements