दिवंगत होने के बाद भी मानवता के काम आएंगे डॉ संजय निगम, मेडिकल कालेज को सौंपी जाएगी देह

Advertisements

कटनी। किसी ने सही कहा है कि अच्छे लोगों की भगवान के यहां भी कद्र है तभी तो ईश्वर ऐसे मसीहा को असमय अपने पास बुला लेते हैं। आज कटनी के समाजसेवी पर्यावरण प्रेमी डॉ संजय निगम के असमय देहावसान की खबर ने सभी को झकझोर कर रख दिया। दूसरों के लिए काम आने वाले इस शख्स ने ताउम्र समाज की भलाई का काम किया तो अब दिवंगत होने के बाद भी वे उन मेडिकल स्टूडेंट्स के काम आएंगे जो चिकित्सक बन कर लोगों को जीवनदान देने के लिए अध्ययनरत हैं।

दरअसल डॉ संजय निगम ने जीवित रहते ही अपने नेत्र ही नहीं समूचा शरीर ही दान कर दिया था। उन्होनें जबलपुर मेडिकल कालेज को अपनी देह दान की थी। आज डॉ निगम के निधन के बाद उनके शरीर को जबलपुर मेडिकल कालेज देने की औपचारिकता शुरू की गई। कल गुरुवार को मेडिकल कालेज से डॉक्टरों की टीम को दिवंगत डॉ श्री निगम की देह सौंपी जाएगी। निःसन्देह जीवित रहकर मानवता की सेवा फिर मरने के बाद भी यह पुनीत कार्य इंसान के रूप में भगवान का दर्शन कराता है।

मिली जानकारी के अनुसार डा संजय निगम ने अपने जीवनकाल में नेत्रदान और देहदान करके समाज को एक प्रेरणा दी। उनके नेत्रदान हो चुके है। देहदान के लिए कल गुरुवार को सुबह 8 बजे मेडिकल कालेज पार्थिव देह ले जायी जायेगी। अंतिम संस्कार नहीं होगा। डॉ संजय निगम की पार्थिव देह जाग्रति पार्क भी ले जाई जाएगी। सभी से अनुरोध किया गया है कि अंतिम श्रद्धांजलि देने लोग उनके निवास शहीद द्बार पहुंचे, यहां से मिशन चौक जाग्रति पार्क तक डॉ निगम को अंतिम विदाई दी जाएगी।

Advertisements