KATNI-दुखद खबर- समाजसेवी डॉ. संजय निगम का असमय निधन, समूचा शहर स्‍तब्‍ध

कटनी। जिले ही नहीं समूचे प्रदेश में समाजसेवा तथा पर्यावरण प्रेमी शहर को पर्यावरण पार्क की सौगात देने वाले डॉ. संजय निगम नहीं रहे। आज बुधवार की शाम करीब साढ़े 5 बजे उनका आकस्मिक निधन हो गया। डॉ. निगम पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे। दो दिन पहले सांस लेने में परेशानी होने पर उन्हें डॉ. एस के चांडक के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां हालत में सुधार नहीं होने पर उन्हें आज शाम एम्‍बुलेंस से जबलपुर शिफ़ट किया जा रहा था, इसी बीच पिपरौंध के पास उन्हें कार्डिक अटैक आया और इसी दौरान उन्होंने अंतिम सांसे ली।

उनके निधन की खबर मिलते ही चिकित्सा जगत में शोक व्याप्त हो गया। जैसे-जैसे यह खबर शहर में फैली, वैसे-वैसे बड़ी सं या में लोग शोक संवदेनाएं व्यक्त करने उनके नई बस्ती शहीद द्वार स्थित निवास पहुंचे। डॉ. संजय निगम शहर के लिए ऐसा नाम था, जो किसी पहचान का मोहताज नहीं था। नई बस्ती में अपने क्लीनिक के साथ ही वे हर समय समाजसेवा में तत्पर रहते थे। माधवनगर की बंजर पहाड़ी यदि आज हरी भरी दिख रही है, तो इसमे डॉ. संजय निगम के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। करीब दस साल पहले प्रशासन और नगर निगम के साथ मिलकर उन्होंने इस बेजान पहाड़ी को संवारने का बीड़ा उठाया। पर्यावरण के साथ ही निर्धन तबके के लोगों की मदद करना उनकी नियति में शामिल था। वे गरीब वर्ग के बच्चों को पढ़ाई के लिए हर समय सहायता करते थे। खराब स्वास्थ्य के बावजूद उन्हें हर समय शहर और शहर के लोगों की चिंता रहती थी। चार दिन पहले 14 सितंबर को ही उन्होंने मलेरिया, चिकनगुनिया और डेंगू से बचाव के लिए एक वीडियो फेसबुक पर वायरल किया था।