Indore मेट्रो के शिलान्यास कार्यक्रम में भी सियासत, भाजपा-कांग्रेस के बीच श्रेय लेने की होड़

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (CM Kamalnath) ने इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट (Indore Metro Project) का किया शिलान्यास
इंदौर. मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) ने कहा है कि इंदौर के विकास के लिए मेट्रो प्रोजेक्ट जरूरी है. शनिवार को इंदौर के ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में मेट्रो प्रोजेक्ट (Indore Metro Project) का शिलान्यास करते हुए कमलनाथ ने कहा कि आज का दिन इंदौर और राज्य के लिए ऐतिहासिक है. उन्होंने इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर कहा कि यह एक सपना था, जो आज साकार हुआ. कमलनाथ ने कहा कि इंदौर शहर की बढ़ती आबादी को देखते हुए मेट्रो इसकी जरूरत है. भाजपा नेता दिवंगत बाबूलाल गौर (Babulal Gaur) का जिक्र करते हुए सीएम ने कहा कि फाइलों में दबी डीपीआर (Detailed Project Report) को बाहर कर मेट्रो प्रोजेक्ट को आज जमीन पर उतारना संभव हो सका है. शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान मेट्रो प्रोजेक्ट का श्रेय लेने को लेकर भाजपा और कांग्रेस के नेताओं के बीच जुबानी-तकरार भी देखने को मिली. इंदौर के सांसद ने जब इस प्रोजेक्ट को कैलाश विजयवर्गीय का काम बताने की कोशिश की, तो कांग्रेस के नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा सिर्फ सपने दिखाने का काम करती है.

बाबूलाल गौर ने किया सहयोग
मेट्रो के शिलान्यास कार्यक्रम में सीएम कमलनाथ ने कहा, ‘आज मध्यप्रदेश के लिए ऐतिहासिक दिन है. मील का पत्थर बनी इस योजना के बारे में 10 साल पहले कोई सोच भी नहीं सकता था. एमपी की विकास यात्रा है, मेरा सपना भी साकार हुआ है.’ इंदौर मेट्रो के बारे में कमलनाथ ने कहा, ‘मैं जब केंद्रीय मंत्री था तब जयपुर गया था. मैंने सोचा था एमपी में मेट्रो कब आएगी. फिर मैं दिल्ली आया और मध्य प्रदेश के तत्कालीन मंत्री बाबूलाल गौर जी से चर्चा की. उन्होंने कहा कि डीपीआर का खर्चा लगता है, तब मैंने कहा कि केंद्र सरकार देगी. फाइलों में दबी थी डीपीआर, हमने नगरीय प्रशासन मंत्री से विस्तृत चर्चा की कि इसकी शुरुआत की जाए.’

CM कमलनाथ ने किया इंदौर मेट्रो का शिलान्यास, अगले 3 साल में पूरा होगा प्रोजेक्ट

5 साल बाद के इंदौर की चिंता
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर शहर की बढ़ती आबादी और अन्य समस्याओं के बारे में भी अपनी बातें रखीं. उन्होंने कहा कि इंदौर के विकास के लिए मेट्रो एक जरूरत के तौर पर उभरेगी. सीएम ने अपने संबोधन के दौरान कहा, ‘मुझसे किसी ने पूछा कि मेट्रो की क्या आवश्यकता है, इस पर मैंने कहा जिस तरह आबादी बढ़ रही है, इंदौर को कैसे सुंदर बनाए रखें. हर शहर की केयरिंग केपेसिटी होती है. इंदौर की केयरिंग केपेसिटी खत्म हो रही है. अगर नोएडा और गुड़गांव नहीं बना होता तो दिल्ली का क्या होता. हमें भविष्य की चिंता है. 5 साल बाद इंदौर कैसा हो यह चिंता है, इसके लिए मेट्रो की जरूरत है. इसलिए ये शुरुआत है हम इंदौर को सुरक्षित रखें.’

जयवर्धन बोले- राजनीति से ऊपर विकास

हिंदुस्तान की पहली महिला राष्ट्रपति के बारे में सच्ची बातें

इंदौर मेट्रो के शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने भी अपने विचार रखे. उन्होंने कहा, ‘2011 में इंदौर मेट्रो की डीपीआर तैयार की गई थी. मुख्यमंत्री थे बाबूलाल गौर और केंद्रीय नगरीय प्रशासन मंत्री थे कमलनाथ जी. उस वक्त डीपीआर मंजूर हुई थी. ये तो ऊपर वाले का करिश्मा है, जब प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ बने हैं तब इसका भूमिपूजन हुआ है. मुख्यमंत्री जी के स्पष्ट निर्देश हैं, हमने जब एमओयू साइन किया उतनी ही तेज़ गति से इसका काम होना चाहिए. हर चुनाव में मेट्रो का मुद्दा उठता था. इस बार सिर्फ मेट्रो के लिए यह भाव सामने आया है. विकास के लिए हम हर कोशिश करेंगे राजनीति से उठकर काम करेंगे.’ मंत्री बाला बच्चन ने इस मौके पर कहा कि इंदौर के बाद भोपाल मेट्रो का भी शिलान्यास होगा. उन्होंने कहा कि हमने पिछली विधानसभा में भी यह मुद्दा उठाया था, मगर तब योजना पूरी नहीं हो पाई. यह सीएम का विजन है कि इस प्रोजेक्ट को साकार कर पाए. अब प्रदेश का चहुंमुखी विकास होगा.

जीतू पटवारी ने कहा- जल्द पूरा हो काम
खेल मंत्री जीतू पटवारी ने मेट्रो के शिलान्यास कार्यक्रम में कहा कि मेट्रो के डीपीआर और भूमिपूजन के वक्त कलम सिर्फ कमलनाथ जी की चली तो इतनी बड़ी सौगात मिली है. उन्होंने कहा कि एक मुद्दा है अवैध कॉलोनी का और दूसरा मिल मजदूरों का, उनके साथ भी न्याय होना चाहिए. उन्होंने कहा कि मेट्रो का काम इसी सरकार के कार्यकाल में पूरा हो. मैं निवेदन करता हूं कि पहली मेट्रो को हरी झंडी भी सीएम कमलनाथ ही दिखाएं. इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि मध्यप्रदेश का सपना और इंदौर के विकास की प्रगति तभी संभव है, जब नई सोच और नए विचार के साथ मेट्रो चले. इंदौर की जनता की ओर से सीएम कमलनाथ को अभिनन्दन. ये सरकार जनता की है, जो वचन दिया था उसके लिए सरकार कटिबद्ध है.

कांग्रेस-भाजपा के बीच तकरार जारी
मेट्रो ट्रेन परियोजना के शिलान्यास समारोह में सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि इस प्रोजेक्ट को कैलाश विजयवर्गीय ने नगरीय प्रशासन मंत्री रहते हुए तैयार किया था. लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष सुमित्रा महाजन (ताई) ने इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाया था. इस पर नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह और उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने जवाब दिया कि तब भी केंद्र में कमलनाथ जी शहरी विकास मंत्री थे, बीजेपी सरकार ने सिर्फ सपने दिखाए हैं. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर दावा किया था कि यह उनकी देन है. विजयवर्गीय ने आरोप लगाया था कि मेट्रो प्रोजेक्ट का शिलान्यास कर कमलनाथ भाजपा के किए काम का श्रेय लेने का प्रयास कर रहे हैं.

Enable referrer and click cookie to search for pro webber