धारा 370 पर जम्मूतवी के महामंडलेश्वर ने कहा-सरकार के कदम से राष्ट्र की मुख्यधारा जुड़ गया जम्मू कश्मीर

कटनी। केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से धारा 370 समाप्त किये जाने एवं जम्मू कश्मीर राज्य का विभाजन कर दोनों हिस्सों को केंद्र शासित प्रदेश बनाये जाने के निर्णय से साधू संत भी प्रसन्न हैं। इन संतों का मानना है कि केंद्र के इस कदम से आगे चलकर जम्मू कश्मीर क्षेत्र के विकास को नई दिशा मिलेगी।

जम्मूतवी पुरानी मंडी आश्रम के महामंडलेश्वर महंत रामेश्वरदास महाराज एवं महंत डॉ. सत्यनारायण वेदांती का गत दिनों अपने शिष्य लक्ष्मीप्रसाद तिवारी के रामनगर स्थित आवास पर आगमन हुआ था। जम्मू से नगर पहुंचे इन संतों से पत्रकारों की संक्षिप्त चर्चा हुई। जम्मू कश्मीर को लेकर महामंडलेश्वर महंत रामेश्वरदास ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा खत्म किया जाना एक स्वागत योग्य कदम है। यह कदम काफी पहले उठा लिया जाना चाहिए था। जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म हो जाने से अब यह राष्ट्र की मुख्यधारा से जुड़ गया है।

सरकार के इस कदम से यहां के स्थानीय नेताओं एवं अलगाववादी विचारधारा के पोषक लोगों को परेशानी हो सकती है आम नागरिकों को इससे कोई नुकसान नहीं होगा बल्कि उद्योग धंधे और रोजगार के अवसर बनेंगे। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाये जाने से यहां सुरक्षा व्यवस्था और मजबूत होगी जिससे आतंकवाद पर लगाम कसेगी।

जम्मू कश्मीर के वर्तमान हालात के बारे में महामंडलेश्वर महंत रामेश्वरदास महाराज ने बताया कि जम्मू में पहले भी स्थिति सामान्य
ही रहती थी। श्रीनगर और दक्षिण क्षेत्र ही अशांत रहता था पर सरकार के इस कदम के बाद तगड़ी सुरक्षा के चलते यहां भी शांति है। सरकार द्वारा कुछ विशेष टेलीफोन बूथों की व्यवस्था की गई है जिसके माध्यम से लोग दूसरे स्थानों पर रहने वाले अपने रिश्तेदारों से बातचीत कर सकते हैं। कहीं-कहीं स्कूल एवं सरकारी कार्यालय भी खुलने लगे हैं। धीरे-धीरे हालात सामान्य होंगे पर इसमें अभी कुछ समय लगेगा। उन्होंने जम्मू कश्मीर राज्य के विधानसभा क्षेत्रों के लिए नयेसिरे से शुरू किये गये परिसीमन की भी सराहना की और इसे सबसे जरूरी बताया। उनका कहना था कि इससे जनसंख्या को लेकर चल रही विसंगति और असमानता समाप्त होगी।