Article 370: तनाव के बीच Pok में सक्रिय हुए आतंकी समूह, डोभाल ने की उच्च स्तरीय बैठक

नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में पुलवामा हमले के बाद से ही काफी तनाव देखने को मिल रहा है। दोनों देशों के रिश्तों में तल्खी तब और बढ़ गई जब भारत ने जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा हटाते हुए अनुच्छेद 370 (Article 370) और अनुच्छेद 35A (Article 35 a) को खत्म कर दिया। इसके बाद से ही पाकिस्तान बुरी तरह से बौखला गया है। खुफिया एजेंसी की जानकारी के मुताबिक अब इस्लामाबाद ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में एक दर्जन आतंकी कैंपों को जम्मू कश्मीर के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भी सक्रिय कर दिए हैं। फिलहाल, आर्मी को घाटी में हाई अलर्ट पर रखा गया है।
पिछले सप्ताह इन शिविरों के आसपास आतंकवादियों का एक व्यस्त आंदोलन भी देखा गया है। हालांकि, पेरिस में स्थित एक अंतर-सरकारी निकाय फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) द्वारा मई 2019 की समय सीमा के मद्देनजर ये कैंप लगभग बंद थे। शीर्ष खुफिया सूत्रों ने कहा कि भारतीय सुरक्षा बलों को पीओके क्षेत्र के कोटली, रावलकोट, बाग और मुजफ्फराबाद में आतंकी कैंपों के रूप में हाई अलर्ट पर रखा गया है, नियंत्रण रेखा (एलओसी) की सीमा पर पाकिस्तान की सेना की अस्थिरता के साथ सक्रिय किया गया है।