चार फीट पानी के बावजूद ड्राइवर ने अंडर पास में यात्रियों से भरी बस उतार दी

Advertisements

मंदसौर/सुवासरा। सुवासरा में बुधवार को बस ड्राइवर की लापरवाही से 20 यात्रियों की जान पर बन आई। क्षेत्र में हो रही बारिश से नाले में तेज बहाव होने से अंडर पास में चार फीट से अधिक पानी भर गया।
दोपहर करीब तीन बजे शामगढ़ से मंदसौर जा रही विजयलक्ष्मी बस को ड्राइवर निकालने लगा तो अंडर पास के नीचे पहुंचते ही वह बंद हो गई और स्टार्ट नहीं हो पाई। यह देख ड्राइवर घबरा गया और यात्री चीख उठे। आसपास के लोग वहां पहुंचे और ऊपर रेल पटरी के समीप खड़े होकर खिड़कि यों से एक-एक कर यात्रियों से बस की छत पर आने को कहा। इसके बाद उन्हें निकाला गया। बताया जाता है कि पानी के कारण बस का दरवाजा भी नहीं खुला था।

ड्राइवर का लाइसेंस और बस का परमिट व फिटनेस निरस्त

अंडर पास में पानी होने बावजूद बस निकालने वाले ड्राइवर का लाइसेंस निरस्त कि या गया है। इसके अलावा बस का फिटनेस और परमिट भी निरस्त कि या गया है। बैठक लेकर सभी को निर्देश दिए थे कि पुल-पुलियाओं पर बारिश के दौरान पानी से बस न निकालें। इसके बावजूद उल्लघंन कि या गया।

आगर : 7 घंटे में 5 इंच बारिश, रपट पर पानी होने से बाधित रहा स्टेट हाईवे

अंचल में मंगलवार रात और बुधवार को हुई झमाझम बारिश हुई। आगर में इंदौर-कोटा स्टेट हाई वे पर आगर-उज्जैन के बीच तनोड़िया के आगे रपट पर तीन फीट पानी होने से आध्ाा घंटे तक यातायात बाधित रहा।

आगर और आसपास के क्षेत्र में मंगलवार रात और बुधवार (करीब 7 घंटे) को 5 इंच बारिश हो गई। नदी-नाले उफान पर होने से कई मार्ग बाधित रहे। इधर, बाबा बैजनाथ महादेव मंदिर क्षेत्र से निकली बाणगंगा नदी में तेज बहाव होने से कसाई-देहरिया मार्ग बाधित हुआ।

मंदसौर : रास्ते बंद, खेतों में भी जलजमाव

मंदसौर में मंगलवार की मध्य रात से बुधवार शाम तक झमाझम बारिश हुई। इससे नाहरगढ़-बिल्लौद, मेलखेड़ा-चंदवासा, दलौदा-सेमलिया हीरा, सीतामऊ आलोट मार्ग बंद रहे। सेमलिया हीरा के पास सोमली नदी स्थित पुलिया ग्राम गुलियाना के प्रभुलाल माली मोटरसाइकिल से पार कर रहे थे, तभी संतुलन बिगड़ने से मोटरसाइकिल सहित पुलिया के नीचे जा गिरे। प्रभुलाल माली को लोगों ने बाहर निकाल लिया।

बाद में लोगों ने जान जोखिम में डालकर रस्सी से मोटरसाइकिल ढूंढने की कोशिश की, पर नहीं मिली। चंबल व शिवना नदी में भी पुल पर पानी बहता रहा। गरोठ से ढलमू,चचावदा, ढाबला मोहन को जोड़ने वाले गारियाखेड़ी पुल पर पानी होने से यातायात बाधित हो रहा है।

गरोठ में ग्राम सेमलीरूपा में पुलिया बह गई। शामगढ़ में बनी-कुरावन-मेलखेड़ा मार्ग पर निर्माणाधीन पुल के लिए बनाया गया कच्चा बायपास बह गया। मेलखेड़ा में पुलिया पर दो-तीन फीट पानी भरने से चंदवासा-शामगढ़ मार्ग बंद रहा। सगोरिया रोड स्थित गायत्री शक्ति पीठ व राधास्वामी के सामने घुटने घुटने तक पानी भर गया।

रेतम बैराज के 20, गाडगिल सागर के चार गेट खोले, मल्हारगढ़ की निचली बस्तियों में पानी भरा

मल्हारगढ़ में निचली बस्तियों में पानी घुस गया। सड़कों पर लगभग चार फीट तक पानी बहता रहा। इधर, रेतम नदी के जलग्रहण क्षेत्रों में हुई जोरदार बरसात से रेतम बैराज के 20 व गाडगिल सागर के चार गेट खोलना पड़े हैं। निचली बस्तियों में जेसीबी चलाकर पानी की निकासी कराई गई।

शाजापुर में पांच घंटे में करीब डेढ़ इंच बारिश हो गई। तनोड़िया में बारिश से हड़ाई मार्ग स्थित रपटे पर पानी होने से करीब एक घंटे तक बंद रहा।

नीमच जिले में एक घंटे में दो इंच से अधिक बारिश हुई। इससे जलजमाव के हालात बने। शहर के प्रमुख स्थानों व रास्तों पर एक से दो फीट पानी भरने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। मंदसौर जिले के गाडगिल सागर बांध के चार गेट खोलने से रेतम नदी में उफान आ गया। इस कारण जीरन-कु चड़ौद और पालसोड़ा-जाएड़ा मार्ग बाधित हो गया।

Advertisements