Jammu Kashmir Live Update: उमर-महबूबा नजरबंद, जम्‍मू-श्रीनगर में धारा-144, बड़ा फैसला संभव

नई दिल्‍ली/जम्‍मू, एजेंसी। जम्‍मू-कश्‍मीर में बड़ी संख्‍या में अतिरिक्‍त सुरक्षा बलों की तैनाती के बाद हलचल बढ़ गई है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को उनके घरों में नजरबंद कर लिया गया है। कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है। घाटी में इंटरनेट सेवाओं बंद करने के साथ ही जम्‍मू और श्रीनगर में धारा-144 लगा दी गई है। जम्‍मू में सभी स्‍कूल कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। वादी के महत्वपूर्ण संस्थानों और संवेदनशील क्षेत्रों की चौकसी बढ़ा दी गई है। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बल तैनात हैं। प्रधानमंत्री की अगुआई में आज सुबह 9:30 बजे कैबिनेट मीटिंग है। इसमें घाटी पर कुछ बड़ा फैसला होने की उम्मीद है।

Live Update:
9.59AM: पीडीपी के राज्यसभा सांसद नजीर अहमद लावे और मीर मोहम्मद फैयाज ने कश्मीर के हालात को लेकर संसद परिसर में विरोध प्रदर्शन किया।

9.57AM: कश्मीर मसले पर AIMIM सांसद असदुद्दीन औवेसी ने लोकसभा में कार्य स्थगन का जबकि भाकपा सांसद बिनॉय विश्वम ने राज्यसभा में नियम 267 के तहत नोटिस दिया है।
9.50AM: पीडीपी के राज्यसभा सांसद नजीर अहमद लावे और मीर मोहम्मद फैयाज ने कश्मीर में हालात के खिलाफ विरोध में काली पट्टी बांध कर सदन पहुंचे हैं।

9.40AM: राज्यसभा के सभापति के निर्देश के मुताबिक, किसी महत्वपूर्ण विधाई कार्य की वजह से शून्‍य काल में सब्मिशन आज के लिए तय सदन के सभी कार्य के बाद में लिए जाएंगे।

9.30AM: कैबिनेट बैठक से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी (CCS) की बैठक ले रहे हैं। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर और वित्त मंत्री निर्माल सीतारमण मौजूद हैं।

9.20AM: कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा और अंबिका सोनी ने कश्‍मीर मुद्दे पर राज्‍यसभा में कार्यस्‍थगन प्रस्‍ताव का नोटिस दिया है।

9.10AM: कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, के. सुरेश और मनीष तिवारी ने लोकसभा में कश्मीर मुद्दे पर स्‍थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है। दूसरी ओर गृह मंत्री अमित शाह ने पीएम मोदी से मिलने से पहले कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद से भी मुलाकात की जिससे अटकलें तेज हो गई हैं।

8.30AM: लद्दाख रिजन में जनजीवन सामान्‍य है और यहां धारा-144 भी नहीं लगाई गई है। आज गर्मी की छुट्टियों के बाद यहां स्‍कूल कॉलेज खुलेंगे और कक्षाएं सुचारू रूप से चलेंगी।

7.30AM: राज्यपाल ने मुख्य सचिव को घटना पर नजर रखते हुए हर घंटे रिपोर्ट देने के लिए कहा है। चूंकि मोबाइल सेवाएं बाधित हैं इसलिए अधिकारियों को संपर्क के लिए सेटेलाइट फोन दिए गए हैं।

6.30AM: रिपोर्टों के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अपने आवास पर आपात बैठक की जिसमें पुलिस महानिदेशक, मुख्‍य सचिव समेत कई आला अधिकारी मौजूद थे।

6.00AM: जम्मू और श्रीनगर में इंटरनेट सेवाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। कश्‍मीर में मोबाइल सेवाएं बंद हो गई हैं। बताया जाता है कि कश्मीर में केबल टीवी नेटवर्क का प्रसारण भी रोक दिया गया है।